Naidunia
    Thursday, November 23, 2017
    PreviousNext

    चौराहों-रोड डिवाइडरों की बदलेगी सूरत, बिल्डर्स गोद लेंगे, विज्ञापन भी करेंगे

    Published: Wed, 15 Nov 2017 07:00 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 07:00 PM (IST)
    By: Editorial Team

    - लीड पेज-16

    - स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत निर्माण, रख-रखाव पर जेब से खर्च करेंगे।

    - महापौर-आयुक्त के साथ बिल्डर्स और कॉलोनाइजर्स की बैठक आयोजित।

    - मोतीनगर चौराहे के सौन्दर्यीकरण करने पर भी सहमति प्रदान दी गई है।

    सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

    तिली मार्ग, कटरा बाजार, सिविल लाइन सहित शहर के कुछ चुनिंदा इलाकों के रोड डिवाइडर, शहर के तिराहे-चौराहे अगले डेढ़ महीने में बदले-बदले से नजर आएंगें। संभव हुआ तो ये इस तरह से विकसित होंगे कि अन्य शहरों के लिए नजीर बन सकें। यहां डिवाइडरों के साथ रेलिंग, ग्रीनरी भी विकसित की जाएगी। इसके लिए शहर के बिल्डर्स और कॉलोनाइजर्स आगे आए हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण में नगर निगम ने एसोसिएशन से मदद करने की पेशकश की थी। चुनिंदा बिल्डर्स ने आगे आकर ऐसे रोड डिवाइडरों को गोद लेने की इच्छा भी जताई है। इसके अलावा होटल संचालक और अन्य व्यवसायी तिराहों-चौराहों को गोद लेंगे। बदले में उन्हें तय नियमों के तहत कॉलोनियों और होटलों का प्रचार करने की अनुमति भी मिलेगी।

    महापौर अभय दरे ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 की तैयारियों को लेकर सागर के रजिस्टर्ड बिल्डर्स और कॉलोनाइजर्स की बैठक बुलाई थी। महापौर दरे और आयुक्त अनुराग वर्मा ने बिल्डर्स को बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में आप सभी का योगदान, सहयोग चाहिए है। शहर की सड़कें और रोड डिवाइडर सुंदर दिखे, उनकी देखरेख हो सके, सुरक्षित भी रहें और हरियाली भी विकसित की जा सके इसके लिए आप लोग आगे आएं। महापौर ने सबसे पहले सिविल लाइन, कटरा बाजर, तिली मार्ग, स्टेशन रोड डिवाइडर को सुंदर बनाने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि एक-एक बिल्डर्स अपनी कॉलोनी के सामने का रोड डिवाइडर तय डिजाइन के अनुसार डेवलप करें और उसके मेनटेनेंस का जिम्मा भी संभाले। बदलें में तय मापदण्डों पर वह रोड डिवाइडर के साथ अपनी कॉलोनी या फर्म का विज्ञापन कर सकेंगे। छोटे-छोटे निर्धारित लंबाई-चौड़ाई के विज्ञापन बोर्ड भी लगा सकेंगे। बिल्डर्स एसोसिएशन की तरफ से बीएस जैन फर्म के प्रकाश जैन, इंजीनियर प्रकाश चौबे, इंजीनियर संजीव चौरसिया सहित अन्य बिल्डर्स ने रोड डिवाइडरों को सुंदर बनाने और इसके लिए रैलिंग की 4 फीट की लंबाई रखने, डिवाइडरों के अंदर लगे पौधों को सुरक्षित बनाने के लिए सुरक्षा की दृष्टि उपाय करने, सभी डिवाइडरों में एकरूपता रखने पर करीब एक घंटे तक चर्चा की।

    महापौर भी बतौर बिल्डर्स काम कराएंगे

    महापौर अभय दरे अपनी कॉलोनी मधुवन ग्रीन्स के सामने का डिवाडर गोद लेंगे। स्वयं के खर्चे पर वे डिवाइडर का तैयार कराएंगे। यह काम वे बतौर महापौर नहीं वरन दरे बिल्डर्स के संचालक बतौर जेब से राशि खर्च करेंगे। तिली मार्ग पर जितने भी बिल्डर्स की कॉलोनियां विकसित हो रही हैं सभी को यहां पर अलग-अलग लंबाई के अनुसार रोड डिवाइडर तैयार कराने दिया जाएगा।

    तिली तिराहे के पास सड़क किनारे हरियाली लगाएंगे

    संजराइज टाउन कॉलोनी विकसित करने वाले इंजीनियर प्रकाश चौबे ने महापौर व आयुक्त को सुझाव देते हुए कहा कि उद्योग कार्यालय के आगे पुराने आरटीओ कार्यालय तक सड़क किनारे करीब 5 से 7 मीटर खाली जमीन पड़ी है। यहां पर स्टेप पार्क व हरियाली तैयार की जा सकती है। इसके मेनटेनेस का जिम्मा भी हम लोग मिलकर उठा सकते हैं। स्वच्छ सागर में यह सुंदर दिखेगी। महापौर ने इस पर प्लानिंग करने की बात कही है।

    कॉलोनियों में स्वच्छता अभियान चलाएंगे

    महापौर व आयुक्त ने इंजीनियर फोरम, बिल्डर्स व कॉलोनाइजर्स से कहा कि आप लोग स्वच्छता सर्वेक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। कॉलोनियों में लोगों को स्वच्छता के लिए प्रेरित करने के साथ-साथ जागरूकता के लिए कार्यक्रम कर सकते हैं। आयुक्त अनुराग वर्मा ने कहा कि स्वच्छता एप मोबाइल में डाउनलोड करने के भी नंबर सर्वेक्षण के प्लान में हैं। आप लोग ज्यादा से ज्यादा कॉलोनी वासियों को एप डाउन कराएं तो हमें पूरे नंबर मिल सकते हैं। इसके अलावा एप के माध्यम से कोई गंदगी की फोटो या शिकायत भी भेज सकते हैं। 24 घंटे में हम निराकरण कराएंगे। सभी ने इसके लिए सहमति जताई है। आयुक्त ने कहा कि जनवरी में स्वच्छता सर्वेक्षण टीम सागर आएंगी इसलिए 15 दिसम्बर तक सभी डिवाइडर के सौन्दर्यीकरण का कार्य पूर्ण हो जाए तो ठीक रहेगा।

    इस साल मुकाबला तगड़ा

    स्वच्छता सर्वेक्षण में सागर ने 100 शहरों की प्रतियोगिता में देश में 23 वां स्थान प्राप्त किया था, इस वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण जनवरी-2018 मुकाबला तगड़ा है। पिछले साल करीब 434 शहरों के बीच मुकाबला हुआ था। इस साल शहरों की संख्या बढकर 4041 हो गई है। हमें अपनी रैंक बरकरार रखने के चार गुना ज्यादा मेहतन करना होगी।

    इन्होंने दी सहमति

    स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान शहर के डिवाइडरों को गोद लेने और इन्हें मेनटेन करने के लिए इंजीनियर प्रकाश चौबे, प्रमेन्द्र रिछारिया, संजीव चौरसिया, पुरुषोत्तम चौरसिया, सुरेशचंद्र जैन, नेवी जैन, अवधेश पांडेय, सिद्वार्थ जैन, अविनाश जैन ने सहमति दे दी है। फाइनल रूप से रैलिंग या डिवाइडर के लिए तीन अलग-अलग डिजाइन तैयार कराई जा रही हैं। इनमें से एक फाइनल की जाएगी। बैठक में निगम के इंजीनियर्स और अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

    बिल्डर्स व इंजीनियरों ने स्वीकृति दे दी है

    स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 का मुकाबला सागर के लिए कड़ा है। इसमें हमने बिल्डर्स और इंजीनियर फोरम सहित कॉलोनाइजर्स से रोड डिवाइडर विकसित करने के लिए सहयोग मांगा है। उन्होंने सहमति दे दी है। तिराहे-चौराहे हम होटल व अन्य व्यावसायिक व्यक्तियों के सहयोग से सुंदर बनाएंगे। इसमें सीमित स्तर पर तय नियमों के तहत प्रचार-प्रसार की अनुमति रहेगी।

    -अभय दरे, महापौर, नगर निगम सागर

    1511एसए- 5 सागर। अभी तिली मार्ग पर रोड डिवाइडर के ऐसे हालात हैं।

    1511एसए- 8, 14 सागर। निगम में महापौर-आयुक्त से चर्चा करते इंजीनियर्स व बिल्डर्स से चर्चा करते हुए।

    और जानें :  # sagarnews
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें