Naidunia
    Thursday, November 23, 2017
    PreviousNext

    उप बसस्टैंड जहां तैयार होने का था दावा, वहां निकली दलदली जमीन

    Published: Wed, 15 Nov 2017 06:18 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 06:18 PM (IST)
    By: Editorial Team

    सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

    मंगलवार को हुई यातायात समिति की संयुक्त बैठक के दौरान उप बस स्टैंड की बारे में बताया गया कि प्रस्तावित तीन में से दो उप बस स्टैंड के लिए जमीन नहीं मिल रही है। एक उप बस स्टैंड कोठी चौराहे के पास बनकर तैयार किया जा चुका है। नगर निगम की ओर से परिवहन विभाग को कहा गया था कि चित्रकूट और पन्ना की ओर जाने वाली बसों का संचालन इसी उप बस स्टैंड से किया जाए। इसके लिए आरटीओ संजय श्रीवास्तव ने कहा था कि 20 नवंबर के बाद बस ऑपरेटरों के साथ बैठक की जाएगी और 1 दिसंबर से इन दोनों रूटों की बसों का संचालन कोठी मोड़ के उप बस स्टैंड से ही किया जाएगा। लेकिन नगर निगम के दावे के बाद उप बस स्टैंड की हकीकत जानी गई तो पता चला कि जिस स्थान पर बसों को रोका जाएगा वह जमीन पूरी तरह से दलदल है। हालांकि पिछले दिनों जर्जर भवनों को गिराने के पश्चात जो मलबा बचा था, उसे आधे हिस्से में डाल दिया गया है। लेकिन अभी भी मूलभूत समस्याएं व्याप्त हैं। उप बस स्टैंड चौतरफा अतिक्रमण की चपेट में है।

    बसों के प्रवेश के लिए रास्ता तक नहीं

    जिस उप बस स्टैंड से बसों को खड़ी करने का मन बनाया जा रहा है, वहां प्रवेश करने के लिए रास्ता तक नहीं है। पन्ना की ओर जाने वाली सड़क से एक रास्ता बनाई गई है वह भी पूरी तरह से ऊबड़-खाबड़ है और चित्रकूट की ओर से जिस स्थान से रास्ता दिया जाना है वहां अतिक्रमण और जमीन पूरी तरह से दलदली है।

    न लाइट, न पानी की व्यवस्था

    नगर निगम दावा कर रहा है कि वहां मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा किया जा चुका है। लेकिन हकीकत यह है कि न तो वहां लाइट की व्यवस्था की गई है और न ही पानी की। खाली मिट्टी डालकर खानापूर्ति कर दी गई है।

    यात्री प्रतीक्षालय की दरकार

    काफी संख्या में दोनों रूटों के लिए बसों का संचालन किया जाता है। ऐसे में जितने स्थान पर मलबा डाला गया है वहां सारी बसें एक साथ तो नहीं खड़ी हो सकतीं। वहीं यात्रियों की सुविधाओं के लिए प्रतीक्षालय भी नहीं बनाया गया है। इसके चलते अगर बस ऑपरेटर बसों के संचालन के लिए तैयार हो भी जाते हैं तो मौके का मुआयना करने के पश्चात स्थिति सकारात्मक नहीं होगी।

    ............

    मैं स्वयं जाकर स्थल का निरीक्षण करूंगी। मेरी जानकारी में वहां मलबा डलवा दिया गया है। अगले एक सप्ताह के दौरान यात्रियों की सुविधाओं के साथ पानी और बिजली की भी व्यवस्था कर दी जाएगी और तय समय पर उप बस स्टैंड का उपयोग किया जाने लगेगा।

    -प्रतिभा पाल, कमिश्नर नगर निगम सतना।

    और जानें :  # Satna News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें