Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    विभागीय जांच में फंसा पुलिस विभाग, संभाग में 104 प्रकरण लंबित

    Published: Wed, 15 Nov 2017 08:57 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 08:57 PM (IST)
    By: Editorial Team

    सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

    इन दिनों विभागीय जांच को लेकर पुलिस विभाग सख्त हो गया है। पीएचक्यू से मिले निर्देश के बाद विभागीय जांच की प्रक्रिया तेज कर दी गई है। अगर रीवा रेंज की बात करें तो अकेले रीवा रेंज में 104 विभागीय जांच के मामले अभी भी लंबित पड़े हुए हैं। इसे जल्द निपटाने के निर्देश डीआईजी द्वारा जारी किए गए हैं। विभागीय जांच पुलिस विभाग के लिए सरल नहीं होती। कारण यह है कि पुलिस विभाग के मातहतों पर लगाए गए इल्जाम की जांच की जानी होती है। जिसे पुलिस विभाग के आलाधिकार जांच करते हैं या तो जांच सिद्घ होती है, या फिर विभागीय जांच में कर्मचारी को क्लीन चिट दे दी जाती है।

    गणना में आती है डीई

    विभागीय जांच को पुलिस भाषा में डिपार्टमेंटल इन्क्वायरी भी कहा जाता है। डीई के पहले कर्मचारियों को प्रारंभिक जांच से गुजरना पड़ता है। प्रारंभिक जांच सिद्घ होने पर ही विभागीय जांच का आदेश राजपत्रित पुलिस अधिकारी द्वारा किया जाता है। लिहाजा डीई की जांच पुलिस अधीक्षक स्तर पर की जाती है। यही कारण है कि इस जांच को लेकर पीएचक्यू बेहद सतर्क रहता है और समय-समय पर जांच जल्द समाप्त करने के निर्देश जारी करता है।

    इन पर पड़ता है प्रभाव

    विभागीय जांच में फंसे अधिकारियों की डीपीसी समय पर नहीं हो पाती। जिससे उनके प्रमोशन में भी दिक्कतें आती हैं। वेतन में जहां विसंगति का सामना करना पड़ता है वहीं प्रमोन न होने से कर्मचारी डिप्रेशन में चला जाता है। लिहाजा पुलिस हेडक्वार्टर विभागीय जांच के परिणाम को लेकर सख्त रहता है।

    आंकड़े पर एक नजर

    जिले का नाम विभागीय जांच की संख्या

    रीवा22

    सतना20

    सीधी20

    सिंगरौली42

    .............

    विभागीय जांच पुलिस अधीक्षक स्तर पर की जाती है। वर्तमान में हुई जांचें अभी भी लंबित हैं। जिन्हें जल्द से जल्द निराकरण करने के आदेश दिए गए हैं।

    -एनपी बरकड़े, डीआईजी रीवा रेंज।

    और जानें :  # Satna News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें