Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    कोटवार की पत्नी का आरोप- केस दर्ज करने चौकी प्रभारी ने लिए पांच हजार रुपए, आरोपी पर नहीं कर रहे कार्रवाई

    Published: Wed, 15 Nov 2017 04:14 AM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 04:14 AM (IST)
    By: Editorial Team

    कोटवार की पत्नी का आरोप- केस दर्ज करने चौकी प्रभारी ने लिए पांच हजार रुपए, आरोपी पर नहीं कर रहे कार्रवाई

    -जनसुनवाई में महिला ने एसपी से की शिकायत, वाहन की टक्कर से महिला के पति की हो गई थी मौत

    फोटो 133 सीहोर । संयुक्त कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए पीड़ित महिला ।

    सीहोर। हलियाखेड़ी जावर की एक अनुसूचित जाति की महिला ने मेहतवाड़ा चौकी प्रभारी सुनील राजपूत पर गंभीर आरोप लगाए हैं। इस महिला ने जनसुनवाई में एसपी और संयुक्त कलेक्टर से की गई लिखित शिकायत में कहा कि उसके पति गांव के कोटवार थे, जिनकी दो अक्टूबर को एक वाहन की टक्कर से मौत हो गई थी। टक्कर मारने वाले आरोपी पर केस दर्ज करने के लिए चौकी प्रभारी ने पांच हजार रुपए, फिर भी आरोपी पर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। महिला ने चेतावनी दी है कि अगर आठ दिन में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो वह अपने परिवार के साथ कलेक्टर कार्यालय के सामने धरने पर बैठेगी।

    अनुसूचित जाति की महिला कुंता मालवीय पति मुकेश मालवीय निवासी हालियाखेड़ी जावर ने एसपी व तथा संयुक्त कलेक्टर आरएस राजपूत को शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि 2 अक्टूबर की रात मेरे पति मुकेश मालवीय ग्राम हलियाखेड़ी के कोटवार थे। जावर तहसील का काम पूरा कर गांव लौट रहे थे। लौटते समय सड़क दुर्घटना होने पर उनकी मौत हो गई। दो दिन बाद ग्राम सेठ गुराड़िया निवासी कमल सिंह पिता भेरुलाल तथा हरनाथ सिंह ने बताया कि वह कजलास दशहरा देखने जा रहे थे। तभी ओंकार सिंह ठाकुर निवासी ग्वाला की महिंद्रा बोलेरा पिकअप एमपी 37 जीए 1108 दूध वाहन, जो ग्राम गुराड़िया वर्मा की डेरी से रात का दूध एकत्रित कर ले जाती है। जिसने ग्राम हालियाखेड़ी के चौकीदार को टक्कर मारी, जिससे हालियाखेड़ी के चौकीदार की मौत हो गई। गवाहों को लेकर मेरे जेठ रामसिंह तथा ससुर पूरण सिंह चौकी मेहतवाड़ा लेकर गए, वहां पर चौकी प्रभारी मेहतवाड़ा सुनील राजपूत को घटना के गवाहों से मिलाया तथा गाड़ी का नम्बर दिया। इस पर सुनील राजपूत भड़क उठे और गवाह कमल सिंह के साथ मारपीट कर उसे बंद कर दिया गया। पीड़ित पक्ष द्वारा विरोध करने पर गवाह को सुनील राजपूत ने दो घंटे में छोड़ा और पति की हादसे में मौत की रिपोर्ट लिखने के लिए ससुर व जेठ से घर बुलाकर 5 हजार रुपए ले लिए। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। इस अवसर पर नरेन्द्र खंगराले, कुतुबुद्दीन शेख, सय्यद मेहमूद अली, कमला मालवीय, पूरण सिंह मालवीय, कमल सिंह मालवीय, हरनाथ सिंह मालवीय, रामसिंह मालवीय आदि मौजूद थे।

    और जानें :  # sehore news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें