Naidunia
    Wednesday, September 20, 2017
    PreviousNext

    श्मशान-कब्रिस्तान की जमीन पर कब्जे के पुराने विवादों की खुलेगी फाइलें

    Published: Sun, 17 Sep 2017 11:54 PM (IST) | Updated: Sun, 17 Sep 2017 11:54 PM (IST)
    By: Editorial Team

    नोट : पेज-13 की भेजी जाने वाली उपद्रव की लीड के साथ इसे क्लब करें।

    -----------

    - एक महीने में एसडीएम निपटाएंगे काम

    - शाजापुर में शव दफनाने के दौरान हुए उपद्रव से जागा प्रशासन

    - पुलिस एवं प्रशासनिक अफसर मिलकर सुलझाएंगे मामले

    शाजापुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    श्मशान एवं कब्रिस्तान की जमीन पर कब्जे के पुराने विवादों की वर्षों से धूल खा रही फाइलें अब जल्द खुलेंगी और एक महीने के भीतर शाजापुर-शुजालपुर के एसडीएम व एसडीओपी विवाद सुलझाएंगे। शनिवार को शव दफनाने के दौरान हुए उपद्रव के बाद जिला प्रशासन जागा। रविवार को छुट्टी होने के बावजूद अफसर फाइलों पर मंथन करते रहे।

    एबी रोड स्थित मेला ग्राउंड के पीछे शनिवार को शव दफनाने की जमीन को लेकर दो समुदाय आमने-सामने हुए थे। आपसी समझाइश के बाद मामला शांत हो गया था किंतु कुछ उत्पातियों ने पथराव कर दिया था। इससे तनाव की स्थिति निर्मित हो गई थी। पुलिस ने कुछ ही समय में मामला संभाल लिया किंतु प्रशासनिक अफसरों की चिंता बढ़ गई। दरअसल, श्मशान की जमीन पर शव दफनाया जा रहा था जांच में यह बात स्पष्ट हो गई। कुछ साल पहले भी इसी जगह को लेकर विवाद की स्थिति बनी थी किंतु तत्कालीन अफसरों ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया था। इससे फिर से तनाव की स्थिति बन गई।

    अब खोलेंगे फाइल

    बीते कुछ दिनों में श्मशान या कब्रिस्तान की जमीन को लेकर दो विवादित मामले सामने आ चुके हैं। शाजापुर से पहले सुनेरा की जमीन को लेकर मामला सामने आया था। ऐसे में प्रशासनिक अफसरों की चिंताएं बढ़ गई हैं। लिहाजा, कलेक्टर अलका श्रीवास्तव ने ऐसे मामलों की फाइलों का निपटारा करने के निर्देश शाजापुर व शुजालपुर एसडीएम को दिए हैं। कलेक्टर श्रीवास्तव ने बताया प्रशासनिक एवं पुलिस अफसर आपसी समन्वय से पुराने मामलों का निराकरण करेंगे। इसके लिए उन्हें निर्देश दिए हैं।

    ------

    फाइल-4

    -----------

    नोट : पेज-13 की लीड के साथ उक्त खबर को बॉक्स में लगा सकते हैं।

    -----------

    ... और इधर अच्छी मिसाल-

    दो हस्तियों का पिपलोनकलां में मिलन, लगे हिंदू-मुस्लिम एकता के नारे

    - दोनों ने दिया भाईचारे और एकता का संदेश

    तनोड़िया। पिपलोनकलां में बरेली से आए शाह मोहम्मद रजा राजिमिया सरकार एवं जैन संत गुरुदेव भानुरत्न विजयजी का मिलन हुआ। इस दौरान हिंदू-मुस्लिम एकता के नारे लगे। दोनों ने भाईचारे और एकता का संदेश दिया।

    राजिमिया सरकार का उनके सैकड़ों मुरीदों ने पुष्पमाला से स्वागत किया। साथ ही हिंदू समाज के वरिष्ठजनों ने भी पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। राजिमिया सरकार से मिलने के लिए आगर, बड़ौद,तनोड़िया सहित राजस्थान से भी उनके मुरीद पिपलोनकलां पहुंचे। खास बात ये रही कि जहां सरकार ठहरे थे, वहौ श्वेतांबर जैन समाज के संत गुरुदेव भानुरत्न विजयजी महाराज उनसे मिलने पहुंचे तो वहां का माहौल हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल बन गया। दोनों संतों ने वहां मौजूद भक्तों को एकता, भाईचारे और मोहब्बत का संदेश दिया। दोनों ने कहा कि कोई भी मजहब हिंसा का संदेश नहीं देता। सभी मजहब मोहब्बत,, भाईचारे से रहने का संदेश देते हैं। हम सब मिल-जुलकर रहे और हमारे देश में हमेशा भाईचारे का माहौल रहे। देश तरक्की करें, यही हमारा देशवासियों से आह्वान है। इस मौके पर वक्फ बोर्ड कमेटी सदर नजीर एहमद, हाजी सरफराज काजी, पूर्व सरपंच मुस्ताक मुल्तानी, साजिद मियां, नरेंद्र जैन, भुरू पटेल, गफ्फार खां आदि मौजूद थे।

    फोटो : 17एसजेआर12

    कैप्शन-तनोड़िया के पास पिपलोनकलां में संतों का मिलन हुआ।

    ------

    ------

    और जानें :  # shajapur. vivad
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें