Naidunia
    Saturday, December 16, 2017
    PreviousNext

    जिन्हें स्कूल न आने वाले बच्चे बताया, उनकी उम्र निकली 38 साल

    Published: Sat, 17 Jun 2017 03:51 AM (IST) | Updated: Sat, 17 Jun 2017 08:14 PM (IST)
    By: Editorial Team
    drop out child mp 2017617 201429 17 06 2017

    श्योपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। स्कूलों से गायब 2 हजार बच्चों की खोज पुलिस ने शुरू की तो कई चौंकाने वाले मामले सामने आने लगे। शिक्षा विभाग की लिस्ट में जिनको 6 से 14 साल का बच्चा बताया गया, वह 26 से 38 साल के महिला-पुरुष निकल रहे हैं। शिक्षा विभाग की लिस्ट में जिनके नाम स्कूल ड्रॉप आउट बच्चों की सूची में हैं, उनमें से अधिकांश की शादी हो चुकी है। कइयों के तो बच्चे स्कूल जा रहे हैं।

    गौरतलब है कि शिक्षा विभाग ने ऐसे 2 हजार बच्चों की सूची बनाई है जिनके नाम स्कूलों में तो लिखे हैं, लेकिन वह पढ़ने नहीं जा रहे। शिक्षा विभाग के तमाम प्रयासों के बाद यह बच्चे स्कूलों में नहीं आए तो श्योपुर एसपी साकेत प्रकाश पाण्डेय ने ऐसे बच्चों को खोजकर स्कूल भेजने का बीड़ा उठाया है। एसपी ने इन 2 हजार बच्चों की सूची बनाकर संबंधित थानों में भेज दी है।

    बड़ौदा पुलिस के पास भी 340 से ज्यादा बच्चों की सूची पहुंची। इन 340 में से 45 बच्चे बड़ौदा नगर परिषद क्षेत्र में बताए गए हैं। पुलिस ने पार्षदों के माध्यम से ऐसे बच्चों की खोज शुरू की तो पता चला कि शिक्षा विभाग ने जिन्हें बच्चा लिख रहा है, वह युवा व अधेड़ उम्र के हो चुके हैं। कइयों की शादी हो चुकी है और 5 से 10 साल तक के बच्चों के माता-पिता हैं।

    किसी के बच्चे पढ़ने जा रहे, कोई ससुराल पहुंच गई

    - शिक्षा विभाग के रिकॉर्ड में बड़ौदा के वार्ड 12 निवासी मुस्तका पुत्र रसीद खान का जन्म 7 मार्च 2001 का बताया और कक्षा 1 से पढ़ाई छोड़कर स्कूल से गायब बताया है। शुक्रवार को पार्षद व पुलिसकर्मी मुस्तका के घर पहुंचे तो पता चला कि उसकी उम्र 26 साल है। दो बच्चों का पिता है और बस कंडक्टर की नौकरी करता है।

    - छोटीबाई पुत्री मुन्नालाल सुमन को शिक्षा विभाग ने कक्षा 6वीं से ड्रॉप आउट और उसका जन्म 1 जनवरी 2006 का बताया है। जबकि छोटीबाई की उम्र 25 साल से ज्यादा है। दो साल पहले उसकी शादी राजस्थान के महावदा में हो चुकी है।

    - शिक्षा विभाग ने मंजू पुत्री सीताराम सुमन का जन्म 7 दिसंबर 2002 का लिख रखा है और कक्षा 6 से ड्रॉप आउट बताई गई हैं। हकीकत यह निकली कि मंजू की उम्र वर्तमान में 38 साल है और उसकी शादी 7 साल पहले सोंठवा गांव में हो चुकी है।

    - बड़ौदा कस्बे में जिन 45 बच्चों का सूची में ड्रॉप आउट बताया गया है, उनमें से 75 प्रतिशत से ज्यादा की शादी हो चुकी है और वह खुद बच्चों के माता-पिता बन चुके हैं।

    शिक्षा विभाग की सूची में गड़बड़ी है। जो सूची हमें दी गई और जिसमें बच्चों को ड्रॉप आउट बताया गया है वह बच्चे ही नहीं हैं। उनकी उम्र 32 से 38 साल तक हो गई है। अधिकांश की शादी हो चुकी है और कइयों के बच्चे स्कूल जा रहे हैं। - हेमंत शर्मा, टीआई, बड़ौदा

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें