Naidunia
    Wednesday, June 28, 2017
    PreviousNext

    कृषकों को दी गई कैशलेस ट्रांजेक्शन की जानकारी

    Published: Fri, 17 Feb 2017 04:56 PM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 04:56 PM (IST)
    By: Editorial Team

    शिवपुरी। कृषि विज्ञान केंद्र पर बीते रोज मैदानी अधिकारी तथा प्रगतिशील कृषकों को दो दिन कैशलेस ट्रांजेक्शन की जानकारी दी गई। इस दौरान किसान कल्याण तथा कृषि विकास, कृषि तकनीक प्रबंधन समिति एवं उद्यानिकी व खाद्य प्रसंस्करण विभाग के मैदानी अधिकारी तथा प्रगतिशील कृषकों को जलवायु अनुकूल कृषि तकनीक एवं जिले में प्रसार की आवश्यकता विषय पर संस्थागत प्रशिक्षण दिया गया। साथ ही प्रक्षेत्र भ्रमण में विभिन्न जानकारी से अवगत कराया गया। प्रशिक्षण के तकनीक सत्र की शुरूआत में केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. पुनीत कुमार द्वारा टमाटर उत्पादन तकनीक एवं भविष्य की रणनीति पर पॉवर पाइंट प्रजेन्टेशन दिया गया व फल-सब्जी कॉपरेटिव की संभावनाओं पर जानकारी दी गई। जिले के अनुकूल परिष्कृत एवं नवीन तकनीकियों के व्यापक प्रसार के बारे में बताते हुए डॉ. एमके भार्गव वैज्ञानिक द्वारा समेकित कृषि प्रणाली को छोटे एवं सीमांत कृषकों हेतु लाभकारी वर्ष पर्यन्त आमदनी सुरक्षा का मॉडल से अवगत कराया गया। इस अवसर पर कृषि के नवोन्वेशी अनुसंधान को बीज उपचार सह बीजपरत लेपन यंत्र को कृषकों के लिए उपयोगिता की महत्ता को समझाते हुए केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. भार्गव ने कृषि विज्ञान केंद्र्र की टीम द्वारा कृषि अधिकारियों के बीच प्रस्तुत किया।

    इन्होंने भी दी जानकारी

    डॉ. स्वातिसिंह तोमर विशेषज्ञ द्वारा मधुमक्खी पालन स्वरोजगार का साधन विषय पर चर्चा की। डॉ. अमृतलाल बसेड़िया वैज्ञानिक कृषि अभियांत्रिकी द्वारा कृषि यंत्रों के कुशल उपयोग एवं डॉ. कमलेश अहिरवार विशेषज्ञ उद्यान द्वारा नर्सरी प्रबंधन पर आरती बंसल विशेषज्ञ कम्प्यूटर द्वारा कैशलेस ट्रांजेक्शन की व्यवहारिक जानकारियों से अवगत कराया। इस अवसर पर रामबाबू शर्मा सहायक संचालक उद्यान तथा गुंजन गुप्ता लेखापाल भी मौजूद थे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों, ग्रामीण उद्यानिकी अधिकारियों, विकासखंड प्रबंधक आत्मा के साथ-साथ बीज एवं फॉर्म विकास निगम एवं प्रगतिशील किसानों की भागीदारी रही। मांगीलाल धाकड़ के प्रक्षेत्र पर ग्राम रातौर में कृषि विज्ञान केंद्र शिवपुरी द्वारा फसल विविधता अंतर्गत लगवाए गए धनियां प्रदर्शन का अवलोकन करते हुए कृषि अधिकारियों तथा कृषकों की उपस्थिति में प्रदर्शन परिणामों से कृषक द्वारा अवगत कराया गया। धनिया की उन्नत प्रजाति पंत हरितमा एवं उत्पादन तकनीक से सफल धनिया खेती के बारे में परिचर्चा की गई। इस अवसर पर सोहनसिंह एवं सोहन लाल बाथम द्वारा रेडियो रिपोर्ट के माध्यम से प्रसारण भी किया गया।

    5 कैप्शन-कैशलेस ट्रांजेक्शन की जानकारी किसानों को देते अधिकारी।

    और जानें :  # shivpuri news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी