Naidunia
    Tuesday, September 19, 2017
    PreviousNext

    वीडियो : शिवपुरी कृषि मंडी के टूटी टीनशेड में रखी 50 क्विंटल मूंगफली भीगी

    Published: Wed, 13 Sep 2017 10:55 PM (IST) | Updated: Wed, 13 Sep 2017 11:13 PM (IST)
    By: Editorial Team
    shivpuri mandi 13 09 2017

    शिवपुरी। शहर में बुधवार की दोपहर एक घंटे हुई झमाझम बारिश किसानों पर भी आफत बनकर बरसी। नगर की कृषि उपज मंडी में मूंगफली लेकर आए किसानों की 50 क्विंटल मूंगफली गीली हो गई। इसमें से कुछ मूंगफली पानी में तैरती नजर आई तो बोरों में रखी मूंगफली भीग जाने से खराब हो गई है।

    मंडी की टीनशेड जहां किसानों की फसल पानी और धूप से बचाने के लिए रखी जाती है, उस टीनशेड में छेद होने के चलते बारिश का पानी टीनशेड क्षेत्र में प्रवेश कर गया। इसके नतीजे में मूंगफली खराब हो गई। ग्राम तानपुर, भैंसाना, रायश्री आदि स्थानों से आए किसान रामदयाल, हरसेवक, मलकू ने बताया कि वे मंडी में मूंगफली बेचने आए थे। सोचा था फसल बेचकर रुपए ले जाएंगे, लेकिन बारिश के पानी से फसल गीली हो गई। मूंगफली खुली, इसलिए रखी गई थी, क्योंकि उसकी तौल की जानी थी। इतने में बारिश आ गई, जिससे करीब 50 क्विंटल मूंगफली भीग गई।

    टीनशेड न होने से भीग गई थी प्याज

    सरकारी खरीदी केंद्र पर प्याज बेचने आए किसानों के साथ भी ऐसा ही हुआ था, जब वे प्याज बेचने आए तो अचानक से आई बारिश के कारण किसानों की हजारों क्विंटल प्याज भीग गई थी। किसानों को भीगी प्याज को सही दाम भी नहीं मिल पाया था। कृषि उपज मंडी आज भी ऐसा ही वाकया किसानों के साथ पेश आया जो अपनी मूंगफली की फसल लेकर आए थे, लेकिन टीनशेड में छेद होने के कारण पानी भर गया और किसानों की मूंगफली पानी में तैरती नजर आईं।

    यह बोले अधिकारी

    यह बात सही है कि तेज बारिश होने के कारण कुछ किसानों की मूंगफली भीग गई। टीनशेड पुराना है, जिसके चलते ऐसा हुआ। नीलामी कर किसानों की मूंगफली खरीदी गई। यह समस्या नई मंडी के निर्माण के बाद दूर हो जाएगी। हम जल्दी मंडी का निर्माण कराना चाहते हैं।

    आरके गोस्वामी, सचिव कृषि उपज मंडी शिवपुरी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें