Naidunia
    Friday, December 15, 2017
    PreviousNext

    सिंगोली के युवक की गुजरात में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

    Published: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST)
    By: Editorial Team

    नौकरी पर जा रहा था, ट्रेन में बेहोश मिला

    -मौत के कारणों का खुलासा नहीं, पीएम रिपोर्ट मिलना शेष

    सिंगोली/नीमच। नईदुनिया न्यूज

    सिंगोली का एक युवक नौकरी पर गुजरात जा रहा था, लेकिन ट्रेन में वह मृत हालत में मिला। मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। संदिग्ध मानते हुए जीआरपी वलसाड़ ने मामला जांच में लिया है। युवक की मौत की सूचना से परिजन स्तब्ध व सदमे में हैं।

    मृतक लोकेश पिता बंशीलाल माली (23) निवासी सिंगोली है। लोकेश गुजरात स्थित नगर हवेली के सिलवासा में वेदांता समूह में केबल ऑपरेटर के पद पर कार्यरत था। सिंगोली में परिजनों से मुलाकात के बाद लोकेश 19 अप्रैल की शाम 5 बजे नीमच और रात 9 बजे नीमच से रतलाम रवाना हुआ। वहां से जयपुर-मुंबई-बांद्रा सुपरफास्ट (ट्रेन क्र. 12980) में सवार हुआ। वह ट्रेन के एस-9 कोच में सीट क्र. 19 पर सफर कर रहा था। वलसाड़ के समीप लोकेश बर्थ पर बेहोश मिला। टीटीई रमेश दायमा ने उसे वलसाड़ जीआरपी के सुपुर्द किया। जीआरपी ने चिकित्सकीय परीक्षण कराया तो डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सामान और मोबाइल फोन कब्जे में लेने के बाद जीआरपी ने लोकेश के मोबाइल फोन से ही पिता बंशीलाल माली को 20 अप्रैल की सुबह 11 बजे सूचना दी। उन्हें लोकेश की बेहोशी की जानकारी दी। इस पर पिता बंशीलाल रिश्तेदार राजेंद्र माली, संतोषसिंह, लक्ष्मीचंद माली सहित अन्य जीआरपी पहुंचे। कागजी कार्रवाई के बाद 21 अप्रैल की सुबह 7 बजे वलसाड़ में डॉ. क्षितिज ने पीएम किया। जीआरपी ने शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पीएम रिपोर्ट नहीं मिलने से मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। शरीर पर चोट के निशान नहीं हैं। सामान भी सुरक्षित मिला है।

    9 दिन बाद शादी की दूसरी वर्षगांठ

    लोकेश ने हायर सेकंडरी के बाद पॉलीटेक्निक कॉलेज से इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया था। कुछ माह पूर्व ही लोकेश की वेदांता समूह में केबल ऑपरेटर के रूप में नौकरी लगी थी। 29 अप्रैल 2015 को लोकेश की शादी रतनगढ़ के समीप ग्राम कसमारिया की ज्योति से हुई थी। ज्योति ससुराल में रहकर बीए सेकंड सेमेस्टर की पढ़ाई कर रही है। वह सिंगोली कॉलेज में अध्ययनरत है।

    पिता की उम्मीद टूटी

    लोकेश के बंशीलाल माली ड्राइवर है। पिता और मां कलाबाई के अलावा परिवार में छोटा भाई मनीष (20) और बहन अंजना (17) है। पिता परिवार की गुजर-बसर करते हैं। छोटा भाई मनीष कक्षा 12वीं में अध्ययनरत है।

    फोटो-

    21एनएमएच-24, लोकेश माली

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें