Naidunia
    Monday, February 20, 2017
    PreviousNext

    6 देशों ने अंतरराष्ट्रीय युवा उत्सव में आने की सहमति दी

    Published: Fri, 17 Feb 2017 04:03 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 01:02 PM (IST)
    By: Editorial Team

    इंदौर(नप्र)। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में 28 फरवरी से शुरू हो रहे पांच दिनी अंतरराष्ट्रीय युवा उत्सव में सात देशों ने आने की सहमति दी है। भूटान, नेपाल, मॉरीशस, अफगानिस्तान, श्रीलंका, बंगलादेश के विद्यार्थी अलग-अलग प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे, जबकि म्यांमार और मालदीप की अनुमति का विवि प्रशासन को इंतजार है। अधिकारियों के मुताबिक संभवतः अगले तीन-चार दिनों में इनकी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। वहीं पाकिस्तानी छात्रों ने इस उत्सव में भाग लेने से माना कर दिया है।

    28 फरवरी से 4 मार्च तक होने वाले उत्सव पर करीब 50 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे, जिसकी मंजूरी 27 जनवरी की कार्यपरिषद की बैठक में मिल चुकी है। पूरे आयोजन के लिए भारतीय विश्वविद्यालय संघ की तरफ से 5 लाख रुपए मिलेंगे। 9 देशों से करीब 300 विद्यार्थियों और अधिकारियों का दल आने वाला है। अलग-अलग देशों की टीम को रुकवाने के लिए विवि के सभी होस्टल में व्यवस्था कर दी है।

    इन दिनों होस्टल में मरम्मत का काम किया जा रहा है। उत्सव के लिए चार सांस्कृतिक कार्यक्रम भी रखे गए है। हेमा मालिनी के अलावा रागिनी मखर का डांस समूह, अहमद हुसैन और मोहम्मद हुसैन की कव्वाली और नागपुर के रॉक बैंड की प्रस्तुति होगी।

    विभागों से भी कहा करों सहयोग

    हेमा मालिनी की डांस प्रस्तुति को विवि स्पॉन्सर्ड करवाने जा रहा है। मगर अब तक 25 लाख रुपए प्रायोजकों से जमा नहीं हुए है। सूत्रों के मुताबिक इस प्रस्तुति के लिए विभागों से भी सहयोग करने को कहा जा रहा है। बाकायदा इसके लिए बैठक हो चुकी है।

    कुछ बड़े विभागों के अकाउंट से रुपए ट्रांसफर करने को बोला है। कारण यह है कि बेहद कम कॉलेज संचालक इसमें दिलचस्पी ले रहे हैं। वहीं प्रस्तुति को लेकर विवि प्रशासन ने प्रायोजकों के लिए खाता नहीं खुलवाया है। उधर ऑडिटोरियम की बजाए खेल मैदान में प्रस्तुति रखने से भी विवाद खड़ा होता नजर आ रहा है।

    किसी को टिकट करवाने का तो किसी को चाहिए मैगजीन का कांट्रेक्ट

    बाहर से आने वाले विद्यार्थियों के टिकट करवाने से लेकर युवा उत्सव की मैग्जीन का काम लेने के लिए एक ठेकेदार इन दिनों आयोजन समिति के प्रभारियों के चक्कर लगा रहा है। सूत्रों के मुताबिक विवि में काम करने के लिए ठेकेदार कुलपति के नाम तक का इस्तेमाल कर रहा है। मजबूरन समिति के प्रभारियों को बैठाकर बात करना पड़ रही है। बताया जाता है कि एक राजनीति पार्टी का भी सहारा लिया जा रहा है।

    कुलपति डॉ. नरेंद्र धाकड़ का कहना है कि ऐसे किसी भी व्यक्ति को कोई काम नहीं दिया जाएगा, जो गलत ढंग से मेरा नाम का इस्तेमाल कर रहा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी