Naidunia
    Sunday, November 19, 2017
    PreviousNext

    गुणानुवाद सभा में गुरु को याद कर छलके आंसू

    Published: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST)
    By: Editorial Team

    -आचार्य जयंतसेनसूरीजी को दी श्रद्धांजलि

    टांडा। नईदुनिया न्यूज

    मानव जीवन में गुरु का अत्यंत महत्व है। गुरु के बिना जीवन का उद्धार नहीं होता है। गुरु का आशीर्वाद भवसागर से तारने वाला होता है। परमेश्वर स्वरूप गुरुदेव आचार्यश्री जयंतसेनसूरीश्वरजी जैन ही नहीं, अपितु जन-जन की आस्था के केंद्र थे। उनके साथ बिताए पलों को जब गुणानुवाद सभा में भक्तों ने याद किया तो उनकी आंखों से आंसू बह निकले।

    आचार्यश्री के देवलोकगमन पर लोगों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। भांडवपुर से लौटकर जैन श्रीसंघ एवं परिषद परिवार ने आराधना भवन में एकत्रित होकर गुरु गुणानुवाद सभा रखी। श्रीसंघ अध्यक्ष पारस जैन, पूर्व अध्यक्ष प्रकाशचंद्र जैन, आनंदीलाल डुंगरवाल, शांतिलाल गादिया, संतोष डांगी, तेजमल नखेत्रा, सुरेश कोठारी, परिषद अध्यक्ष भूपेंद्र लोढा आदि ने श्रद्धांजलि दी। सभा का संचालन श्रीसंघ कोषाध्यक्ष पारस हरण ने किया। भांडवपुर तीर्थ में गुरुदेव को पुण्य सम्राट की उपाधि से अलंकृत किया गया।

    और जानें :  # tanda news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें