Naidunia
    Wednesday, September 20, 2017
    PreviousNext

    लक्ष्मी नारायण मंदिर के चोरों ने चटकाए ताले, नकदी चोरी

    Published: Sun, 17 Sep 2017 10:33 PM (IST) | Updated: Sun, 17 Sep 2017 10:33 PM (IST)
    By: Editorial Team

    डबरा। नईदुनिया प्रतिनिधि

    प्रदेश के सिंचाई मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने भितरवार रोड पर जिस लक्ष्मीनारायण मंदिर का निर्माण कराया है, उसके शनिवार-रविवार की रात अज्ञात चोरों ने ताले तोड़ दिए और दान पेटी में रखी नकदी चुरा ले गए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को जांच में ले लिया है। मंदिर में चोरी होने की सूचना मिलने पर मंत्री श्री मिश्रा भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिस को निर्देशित किया कि वह जल्द ही चोरों का पता लगाए।

    जानकारी के अनुसार, भितरवार रोड पर लक्ष्मीनारायण मंदिर बना हुआ है, जिसे प्रदेश के जल संसाधन मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बनवाया है। शनिवार-रविवार की रात अज्ञात चोरों ने मंदिर परिसर के मैन गेट का ताला तोड़ा और दान पेटी में रखी नकदी चुरा ली। रविवार की सुबह जब मंदिर के पुजारी पूजा करने के लिए वहां पहुंचे, तो उन्हें चोरी का पता लगा। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। जानकारी मिलने पर देहात थाना प्रभारी विदुर सिंह कौरव मौके पर पहुंचे और घटना स्थल की छानबीन की।

    मंदिर में लगे हैं कैमरे

    सूचना मिलने पर थाना प्रभारी जब मंदिर परिसर में पहुंचे, तो उन्होंने वहां लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी। लेकिन कोई भी चोर फुटेज में नहीं दिखा। हालांकि अभी भी पुलिस द्वारा फुटेज की बारीकी से छानबीन की जा रही है। मंदिर परिसर के बाहर और आसपास जगह लगे कैमरे की छानबीन में पुलिस भी लगी हुई है। देहात थाना प्रभारी विदुर सिंह कौरव ने कहा है कि चोरों को जल्द पकड़ लिया जाएगा।

    संन्यास आश्रम में हुई चोरी का भी नहीं लगा पता

    शुक्रवार-शनिवार की रात संन्यास आश्रम में भी अज्ञात चोरों ने माता के जेवर व दान-पेटी में रखी नकदी चुरा ली थी। चोरी गए सामान की कीमत करीब 2 लाख रुपए बताई गई है। इस संबंध में पुलिस अभी तक कोई सुराग नहीं लगा पाई है।

    पुलिस की गश्त पर उठ रहे सवाल

    इन दिनों चोरों द्वारा मंदिरों को निशाना बनाया जा रहा है। एक के एक बाद मंदिर में चोरी की घटनाएं सामने आ रही है। इससे रात के समय पुलिस की गश्त पर सवाल उठ रहे हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस की गश्त खाना-पूर्ति तक सीमित है। इस कारण चोरों के हौसले बुलंद हैं।

    और जानें :  # temple theft
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें