Naidunia
    Tuesday, September 26, 2017
    PreviousNext

    अमरनाथ बस हादसा : टीकमगढ़ जिले के दो भाइयों की भी गई जान

    Published: Mon, 17 Jul 2017 09:41 PM (IST) | Updated: Mon, 17 Jul 2017 09:46 PM (IST)
    By: Editorial Team
    bus accident 17 07 2017

    टीकमगढ़। हंसी-खुशी यहां से अमरनाथ की यात्रा पर जिन दो बच्चों को परिवार ने हंसते-खेलते यहां से विदा किया था। वह नहीं जानते थे कि अब यह लौटकर कभी नहीं आएंगे। कौन जानता था कि इनकी मौत की खबर इनके आने से पहले यहां आ जाएगी। बीते रोज अमरनाथ बस हादसे में यहां के दो युवकों की जान चली गई।

    मरने वालों में रवि यादव (21) निवासी नया बस स्टैंड रोड कुरयाना मोहल्ला एवं संजय यादव उर्फ संजू (27) निवासी अखाड़ा ताल दरवाजा के नाम शामिल है। दोनों युवकों की मौत की खबर सुनते ही सारे शहर में मातम सा छा गया। इन मोहल्लों में चारों ओर मायूसी छाई हुई है। लोगों को मृतकों के शव आने का इंतजार है।

    रविवार को अमरनाथ यात्रियों की जो बस जम्मू-कश्मीर के बनिहाल में 100 फीट गहरी खाई में गिरी। इस सड़क हादसे में 16 लोगों की जान जाने की खबर है। इन मरने वालों में रवि यादव पुत्र नाथूराम यादव (21) निवासी कुरयाना मोहल्ला नया बस स्टैंड रोड़ टीकमगढ़ एवं संजय यादव उर्फ संजू पुत्र स्व. रामस्वरुप यादव (27) निवासी अखाड़ा ताल दरवाजा टीकमगढ़ के नाम शामिल है। रिश्ते में यह मामा-बुआ के भाई होते है। दोनों भाइयों की मौत की खबर ने परिवारों में शोक की लहर ला दी। फिलहाल इन परिवारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। परिवार के अधिकांश लोग ग्वालियर शव लेने के लिए पहुंच गए हैं।

    एक अधिकारी समेत तीन लोगों को शव लेने के लिए भेजा : कलेक्टर

    अमरनाथ यात्रा में जिले के दो युवकों संजय यादव एवं रवि यादव की मौत हुई है, इसकी जानकारी लगते ही प्रशासन की ओर से एक अधिकारी और दो कर्मचारियों के साथ विशेष शव वाहन ग्वालियर के लिए भेजा गया है।

    मुआवजे के संबंध में पूछे जाने पर कलेक्टर प्रियंका दास ने बताया कि मुख्यमंत्री सहायता कोष से राशि दिलाने के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा जाएगा, इसके अलावा मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा की जा सकती है, उन्होंने अंतिम संस्कार के लिए दी जाने वाली राशि भी दिलाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने इस घटना पर दुख जताते हुए मृतकों के परिवार को प्रशासनिक स्तर पर हर संभव मदद करने का भरोसा दिलाया।

    ग्वालियर में होटल में एक साथ करते थे काम

    मामा-बुआ के दोनों भाई संजय और रवि यादव ग्वालियर रेलवे स्टेशन के सामने होटल पर काम किया करते थे, यह दोनों भाई राजेंद्र यादव एवं सतेंद्र तिवारी के साथ अमरनाथ की यात्रा पर गए थे। इन लोगों में तीन लोगों की जहां जान चली गई, वहीं सतेंद्र तिवारी उर्फ छोटू गंभीर रुप से घायल है जिसका इलाज जम्मू में किया जा रहा है।

    पड़ोसियों की हुई आंखें नम

    स्थानीय निवासी संजय यादव एवं रवि यादव यहां के अलग-अलग मोहल्लों में निवास करते थे, इन दोनों इलाकों में मौत की खबर फैलते ही माहौल गमगीन हो गया और पड़ोसियों की आंखे नम हो गई। अखाड़ा निवासी मनमोहन प्रजापति बताते है कि संजय यादव एक मिलनसार एवं मृदुभाषी युवक था, उसकी मौत की खबर पाकर सभी को गहरा आघात लगा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें