Naidunia
    Tuesday, October 24, 2017
    PreviousNext

    विदेशी प्रेमी के चक्कर में आकर वो सबकुछ गवां बैठी

    Published: Thu, 22 Jun 2017 08:45 PM (IST) | Updated: Fri, 23 Jun 2017 09:24 AM (IST)
    By: Editorial Team
    women lover tikamgarh 2017623 92248 22 06 2017

    टीकमगढ़। मुझे दिल्ली में आते ही कस्टम वालों ने पकड़ लिया है, मैं तुम्हारे लिए कीमती उपहार लाया था। अब यहां कस्टम वालों को रिश्वत देना पड़ रही है, फिलहाल मेरे पास भारतीय मुद्रा (रुपए) नहीं है। कहीं से जल्द ही इंतजाम करके रुपए भेज दो। मैं तुम्हें लेने के लिए नाइजीरिया से दिल्ली तो आ गया, लेकिन यहां बुरी तरह से फंस गया हूं।

    यह मनगढंत कहानी सुनाकर प्रेमी विदेशी ठग ने यहां की एक महिला को ढाई लाख रुपए का चूना लगा दिया। प्रेम जाल में फंसी महिला ने किसी तरह इंतजाम करके अपने ऐसे प्रेमी को बचाने के लिए बिना कुछ सोचे समझे इतनी मोटी रकम भेज दी, जिसे उसने अब तक देखा भी नहीं था। पुलिस ने प्रेमी बने विदेशी ठग को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। जिससे अब पूछताछ की जा रही है। हालांकि इस मामले में अभी पुलिस पूरी तरह चुप्पी साधे हुए है।

    डेवेश इमेक पुत्र डेनेश आयुडू निवासी नाइजीरिया अपना ठिकाना दिल्ली में बनाकर ठगी किया करता था। वर्ष 2016 में उसने फेसबुक पर रीक्वेस्ट भेजकर यहां की एक महिला से दोस्ती की और फिर धीरे-धीरे यह विवाहित महिला उसके प्रेम जाल में फंसती चली गई। विदेशी ठग डेवेश ने महिला को दिवास्वप्न दिखाए और उसे लंदन ले चलने की बात कही। महिला भी उसकी बातों में आ गई।

    सूत्र बताते है कि डेवेश ने विदेशी टिकट भी उसे मेल से भेजे। और दिल्ली आने की बात कही। इसके बाद विदेशी नंबर से ही उसने फोन लगाकर बताया कि वह दिल्ली आ गया है लेकिन एक बड़ी मुसीबत में फंस गया है, उसने महिला से कस्टम वालों को तीन लाख रुपए देने के लिए मांगे, और महिला भी उसके प्रेम जाल में इस तरह फंस चुकी थी कि उसने अपना भला बुरा न सोचकर उसके खाते में ढाई लाख रुपए भेज दिए।

    जब महिला को यह पता चला कि वह किसी ठग के हाथों बुरी तरह से ठगी जा चुकी है तब उसने सारी कहानी यहां के पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल को सुनाई। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए महिला का नाम गोपनीय रखा और अपने स्तर से सारे मामले की छानबीन करना शुरु कर दी। इस मामले में उन्होंने साइबर सैल के प्रभारी रहमान की मदद से विदेशी ठग तक पहुंचने में अंतत: कामयाबी हासिल कर ली।

    बताया गया है कि महिला द्वारा वर्ष 2016 में की गई रिपोर्ट पर अपराध 228/16 धारा 420 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया जा चुका था। सूत्रों का कहना है कि साइबर सैल की मदद से आरोपी की लोकेशन दिल्ली में होने की मिली और टीकमगढ़ पुलिस ने दिल्ली जाकर आरोपी डेवेश इमेक निवासी नाइजीरिया हाल दिल्ली को गिरफ्तार कर लिया और उसे लेकर टीकमगढ़ आ गए।

    इस संबंध में हालांकि थाना प्रभारी ने राजेश बंजारे ने कुछ भी कहने से इंकार किया है, वहीं पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल का कहना है कि वह 23 जून को सारे मामले का खुलासा करेंगे। फिल आरोपी को अस्तौन पुलिस चौकी में रखा गया है, जहां उससे पूछताछ की जा रही है। यह मामला लोगों के बीच खासी चर्चा का विषय बना हुआ है। पुलिस अधीक ने महिला का नाम गोपनीय रखने की सलाह दी है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें