Naidunia
    Thursday, October 19, 2017
    PreviousNext

    केस जीतने व धनवर्षा के लिए प्राणियों के अंगों का ऑनलाइन कारोबार

    Published: Mon, 14 Aug 2017 04:02 AM (IST) | Updated: Thu, 17 Aug 2017 08:38 AM (IST)
    By: Editorial Team
    hattha jodi mp news 2017814 13590 14 08 2017

    भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। हत्थाजोड़ी से कोर्ट केस में जीत हासिल करने, जेब में रखने से धन प्राप्त होने, संतान सुख मिलने और व्यापार बढ़ने जैसे प्रलोभन ऑनलाइन कंपनियों की साइट से हटाने और उनका कारोबार तत्काल बंद करने को लेकर उप वनसंरक्षक वन्यप्राणी रजनीश कुमार सिंह ने स्नैपडील, इंडिया मार्ट समेत चार कंपनियों को नोटिस जारी किया है। यह कार्रवाई हाल ही में इंदौर में टाइगर स्ट्राइक फोर्स द्वारा की गई कार्रवाई के बाद की गई।

    उप वनसंरक्षक सिंह के मुताबिक फोर्स की इंदौर इकाई ने विजय नगर क्षेत्र में शुभ भक्ति नामक कंपनी के परिसर में सर्च की कार्रवाई करते हुए वन्यप्राणियों के अंगों से बने हत्थाजोड़ी (हाथ बांधने का ताबीज), सियारसिंगी (सियार की सींग का ताबीज) जब्त किए थे।

    टीम ने कंपनी के मालिक सुमित शर्मा, सचिन शर्मा और फिरोज अली को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में तीनों आरोपियों ने बताया कि वे पूजा सामग्री का कारोबार करते हैं और इन वन्यप्राणियों के अंगों से बनी इन चीजों को ऊंचे दाम पर बेचते हैं।

    वे मालवा मिल निवासी राजेश पोरवाल से ये चीजें खरीदते थे। बाद में टीम ने राजेश की दुकान से भी वन्यप्राणियों के अंगों से बने सामान जब्त किए। चारों आरोपियों ने जांच के दौरान यह भी बताया कि वे विभिन्न कंपनियों की वेवसाइट के माध्यम से भी इन चीजों का कारोबार करते हैं।

    इन कंपनियों में स्नैप डील, इंडिया मार्ट, विश एंड वाय और क्राफ्ट कम्पेरिजन शामिल है। विभाग ने चारों आरोपियों के खिलाफ वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज करते हुए उपरोक्त कंपनियों को भी नोटिस जारी किया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें