Naidunia
    Monday, November 20, 2017
    PreviousNext

    11 बीघा जमीन के किसान ने जहर खाकर की आत्महत्या

    Published: Sat, 08 Jul 2017 11:51 PM (IST) | Updated: Sun, 09 Jul 2017 12:02 AM (IST)
    By: Editorial Team
    suicide farmer 201779 021 08 07 2017

    कुरवाई। क्षेत्र के ग्राम रायमूडरा के एक युवा 33 वर्षीय किसान झलकन सिंह पुत्र गुलाबसिंह दांगी ने शनिवार को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। गंभीर हालत में उसे कुरवाई अस्पताल लाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों का कहना है कि लगातार फसल खराब हो रही थी और विभिन्न कारणों के चलते वह कुछ दिनों से परेशान था। उसकी छह साल की एक बेटी भी है।

    मृतक के भाई सोमतसिंह ने बताया कि झलकन 11 बीघा का किसान था। उसने जैसे तैसे कर्ज लेकर सोयाबीन की फसल बोई थी। पिछले 3 साल से फसलें खराब हो रहीं हैं। उस पर मार्केट का व प्रायवेट लोगों का कर्ज था। मृतक के भतीजे उमरावसिंह ने पुलिस कुरवाई को बताया कि झलकन के पांचों भाई अलग अलग रहते हैं। उसकी 6 साल की एक बेटी है। घर में अभी कोई टेंशन नहीं थी। किस कारण आत्महत्या की है इसका पता नहीं है।

    घटना के समय उसकी पत्नी घर में अकेली थी। उसने बताया कि वह कोई दवाई पीकर सो गया। बाद में उसकी हालत खराब होने पर परिवार के लोग जब उसे अस्पताल ला रहे थे, तो दोपहर 12 से 1 बजे के बीच रास्ते में उसकी मृत्यु हो गई। मृतक का कुरवाई अस्पताल में पीएम करवाया गया। इसके बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया।

    मौत की वजह कर्ज नहीं

    इधर किसान की मौत के बाद प्रशासन भी हरकत में आ गया। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि किसान की मौत की वजह कर्ज नहीं है। प्राथमिक साख सहकारी समिति के प्रबंधक बद्रीसिंह ठाकुर ने बताया कि किसान झलकनसिंह ने इस वर्ष सोसायटी का कर्ज जमा कर दिया था। उसे अभी एक सप्ताह पूर्व ही सोसायटी से नया ऋ ण दिया गया था। इस संबंध में टीआई शकुन्तला बामनिया ने बताया कि मृतक की पीएम रिपोर्ट के आधार पर मर्ग कायम कर मामले की जांच की जा रही है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें