Naidunia
    Monday, March 27, 2017
    PreviousNext

    लुटेरों से भिड़ा 68 वर्षीय बुजुर्ग, लूटे गए पैसे और बाइक छोड़कर भागे बदमाश

    Published: Fri, 17 Feb 2017 07:56 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 07:56 AM (IST)
    By: Editorial Team

    पेज 13 की फ्लायर

    फोटो 1

    विदिशा। युवा लुटेरों से लोहा लेने वाला बुजुर्ग पैसे मिलने के बाद सीएसपी से चर्चा करते हुए।

    फोटो 2

    विदिशा। लुटेरों से मिली बाइक पर गलत नंबर दर्ज है।

    विदिशा। अस्पताल रोड पर गुरुवार की दोपहर एक 68 वर्षीय बुजुर्ग दो युवा लुटेरों से भिड़ गया। लेकिन आसपास दर्जनों की संख्या में मौजूद लोग तमाशा देखते रहे। बुजुर्ग की हिम्मत के सामने लुटेरे हार गए और उनसे लूटी गई राशि और बाइक छोड़कर भाग निकले। यदि वहां मौजूद लोग जरा सी हिम्मत दिखा देते तो लुटेरों को मौके पर ही पकड़ा जा सकता था। इस बुजुर्ग की हिम्मत की पुलिस विभाग भी दाद दे रहा है। कोतवाली थाने में अज्ञात लुटेरों पर मामला दर्ज किया गया है।

    मालूम हो कि तीन दिन के अंदर शहर में लूट की यह दूसरी घटना है। जिसने पुलिस विभाग की सक्रियता पर सवालिया निशान लगा दिया है। गुरुवार को दोपहर में हाजीवली तालाब निवासी मानव सेवा न्यास के मैनेजर 68 वर्षीय भगवानसिंह रघुवंशी 4 हजार रुपए लेकर पैदल बिजली वितरण कंपनी बिल जमा करने जा रहे थे। इंदू जैन अस्पताल के सामने स्थित बिजली कंपनी के गेट से वह परिसर में प्रवेश करते इससे पहले वहां काले रंग की डिस्कवर बाइक से खड़े दो युवाओं ने उन्हें रोका और पैर छुए। इसके बाद उनसे कहा कि आपने तौलिया, कुर्ता, बनियान कहां से खरीदे हैं। हमें इस तरह के वस्त्र साधुओं को दान करना है। इस तरह की बात करते-करते एक युवा ने उनका कुर्ता उठाया और बनियान की जेब में हाथ डाल दिया। बुजुर्ग तुरंत समझ गया कि ये बदमाश हैं। उन्होंने फुर्ती से बाइक की चाबी निकालकर बाइक को पकड़ लिया। बाइक पर सवार दोनों युवाओं ने बुजुर्ग को जमकर धक्का मारा लेकिन उन्होंने बाइक नहीं छोड़ी। इस बीच लुटेरों द्वारा उनकी जेब से निकाले गए 4 हजार रुपए की राशि में से साढ़े तीन हजार रुपए नीचे गिर गए। जब युवा समझ गए कि बुजुर्ग से गाड़ी छुड़ाना आसान नहीं है तो वह सड़क पर गिरे साढ़े तीन हजार रुपए व बाइक को मौके पर छोड़कर भाग गए। इस घटना के बाद वहां पर तमाशबीनों की भीड़ जमा हो गई। कोई बुजुर्ग की हिम्मत की तारीफ कर रहा था तो कोई मौके पर मौजूद लोगों द्वारा सहयोग नहीं करने पर दुःख जता रहा था। घटना की जानकारी मिलते ही सीएसपी नागेन्द्र पटेरिया सहित अन्य पुलिस अमला मौके पर पहुंचे और आसपास के लोगों से पूछताछ की। घटना के बाद पुलिस ने शहर के मार्गों पर नाकाबंदी भी की लेकिन भागे हुए लुटेरे पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सका। बुजुर्ग रघुवंशी ने बताया कि दोनों लुटेरों की उम्र लगभग 28 से 30 वर्ष बताई जा रही है। वे जींस और शर्ट पहने हुए थे।

    बाइक पर नंबर भी गलत

    लुटेरे जिस बाइक को छोड़कर भागे हैं उस बाइक की प्लेट पर डला बाइक का नंबर भी गलत बताया जा रहा है। काले रंग की डिस्कवर बाइक पर एमपी 40 टीएम 9187 नंबर अंकित है। लेकिन यह नंबर आरटीओ की वेबसाइट पर नहीं आ रहा है। लेकिन जब टीएम की जगह एमटी से नंबर जांचा गया तो यह बाइक करोंद के किसी रवि नामक व्यक्ति के नाम से दर्ज निकली। पुलिस को आशंका है कि यह बाइक भी चोरी की हो सकती है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

    और जानें :  #vidisha news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी