Naidunia
    Wednesday, June 28, 2017
    PreviousNext

    छोटी-छोटी चीजों पर रिसर्च से निकलती है बड़ी थ्योरीः डॉ. जैन

    Published: Fri, 17 Feb 2017 07:56 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 07:56 AM (IST)
    By: Editorial Team

    पेज 13 बाटम

    फोटो 4

    विदिशा। एसएटीआई में सेमीनार को संबोधित करते आईआईटी के पूर्व प्रोफेसर डा. वीके जैन।

    विदिशा। किसी भी अनुसंधान के लिए अवलोकन, कार्य के प्रति ईमानदारी, कडी मेहनत और पागलपन की हद तक जुनून होना आवश्यक है। महान वैज्ञानिक न्यूटन और सीवी रमन ने छोटी-छोटी चीजों का अवलोकन कर उस पर कार्य किया और विश्व को महान थ्योरी दी। ये बात एसएटीआई में गुरुवार को 'इनोवेटिव रिसर्च इन इंजीनियरिंग एंड साइंस' विषय पर हुई एक दिवसीय नेशनल कांफ्रेंस में मुख्य वक्ता आईआईटी कानपुर के पूर्व प्रोफेसर डा. वीके जैन ने कही।

    डा. जैन ने अपना मुख्य संबोधन 'मेन्यूफ्रेक्चरिंगः भविष्य की दृष्टि' और 'मेन्युफ्रेक्चरिंग के वर्गीकरण' विषय पर दिया। इससे पूर्व उन्होंने प्रोजेक्टर की मदद से आईआईटी कानपुर का एरियल व्यू दिखाया और वहां स्थित मेन्यूफ्रेक्चर साइंस लेब, यूनिवर्सल माइक्रो मशीन सेंटर, थ्री-डी प्रिंटिंग और वहां मौजूद संसाधनों पर चर्चा की। उन्होंने मैकेनिकल विभाग के विभागाध्यक्ष डा. पंकज अग्रवाल को दीवार घडी भेंट की, जिसमें माइक्रो मेन्युफ्रेक्चरिंग की प्रोसेस एवं एप्लीकेशन्स अंकित हैं। स्वागत भाषण देते हुए संचालक डा. जेएस चौहान ने कहा कि प्राध्यापक, इंजीनियर और स्टुडेंट्स को हमेशा इनोवेटिव रिसर्च आइडियाज के विषय में सोचते और उस पर कार्य करते रहना चाहिए। उन्होंने एसएटीआई में डा. जैन की मौजूदगी को विशेष बताया। उन्होंने कहा कि कालेज के विद्यार्थी और प्रोफेसर डा. जैन के अनुभवों से लाभांवित होंगे।

    41 शोधार्थियों ने पढ़े शोधपत्र

    इस मौके पर अतिथियों ने कान्फ्रेंस के लिए प्रकाशित प्रोसीडिंग का विमोचन किया। इस कांफ्रेंस में देशभर के विभिन्न इंजीनियरिंग संस्थानों से 41 शोधार्थी शामिल हुए और उन्होंने अपने शोधपत्र पढ़े। कार्यक्रम के अंत में मैकेनिकल विभागाध्यक्ष डा. अग्रवाल ने आभार व्यक्त किया। इस मौके पर कांफ्रेंस कोआर्डिनेटर डा. एसके धाकड, डा. संजय कटारे सहित अनेक प्राध्यापक एवं विद्यार्थी मौजूद थे।

    कम्प्रेशर मशीन फटने से युवक घायल, ट्रेन से कटकर ग्रामीण की मौत

    फोटो 8

    विदिशा। कम्प्रेशर मशीन फटने से घायल युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

    विदिशा। जिले में अलग-अलग जगह हुईं दुर्घटनाओं में एक व्यक्ति की मौत हो गई है जबकि एक युवा बुरी तरह से घायल हुआ है जिसे गंभीर हालत में भोपाल रेफर किया गया है। ट्रेन की चपेट में आने से मृतक व्यक्ति के शव को जिला अस्पताल के मरचुरी रूम में रखवाया गया है।

    त्योंदा थाना अंतर्गत ग्राम पिपराहा में सुबह करीब 8 बजे कंम्प्रेशर मशीन फट जाने से एक युवक बुरी तरह से घायल हो गया है। परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे भोपाल रेफर किया गया है। घायल युवक 22 वर्षीय विमलेश मालवीय को जिला अस्पताल लेकर आए परिजनों ने बताया कि विमलेश पिपराहा गांव में ही पंचर सुधारने हवा भरने का काम करता है। सुबह करीब 8 बजे हवा भरते समय अचानक कंम्प्रेशन मशीन फट गई जिससे वह बुरी तहर से घायल हो गया। 108 एम्बूलेंस से उसे जिला अस्पताल लाया गया। घटना में युवक के दोनों पैर बुरी तरह से जख्मी हुए हैं।

    ट्रेन से कटकर युवक की मौत

    जीआरपी थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक रघुवीरसिंह और आरक्षक राजकुमारसिंह ने बताया कि गुरूवार की शाम को साढ़े चार बजे रेलवे स्टेशन से सूचना मिली थी कि सोंठिया फाटक के थोड़े आगे रेल पटरियों पर शव पड़ा हुआ है। वह मौके पर पहुंचे तो एक व्यक्ति किसी अज्ञात ट्रेन की चपेट में आने से मृत पड़ा हुआ था। उसकी तलाशी लेने पर ड्रायविंग लायसेंस मिला है। जिससे उसकी शिनाख्त ग्राम बरखेड़ा निवासी पर्वतसिंह के रूप में हो रही है। इसके अलावा उसकी जेब से मिले कुछ मोबाइल नंबरों से उसके परिवार को सूचना देने के प्रयास किए गए हैं। फिलहाल उसके शव को उठाकर जिला अस्पताल के मरचुरी रूम में रखवाया गया है। शुक्रवार को उसका पीएम कराया जाएगा। व्यक्ति ने आत्महत्या की है अथवा अनायास ट्रेन की चपेट में आ गया इस मामले की जांच की जाएगी। फिलहाल मर्ग कायम किया गया है।

    और जानें :  # vidisha news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी