Naidunia
    Friday, November 17, 2017
    PreviousNext

    पंचायत भवन और सामुदायिक केन्द्र में लग रही है आंगनबाड़ी

    Published: Mon, 18 Sep 2017 12:22 AM (IST) | Updated: Mon, 18 Sep 2017 12:22 AM (IST)
    By: Editorial Team

    अनूपपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    विकासखंड बदरा अंतर्गत ग्राम पंचायत दैखल में 6 आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित हैं जिसमें से 4 मुख्य और 2 मिनी आंगनबाड़ी हैं। अनूपपुर परियोजना महिला बाल विकास विभाग के अधीन यहां विभाग की गतिविधियां चलाई जा रही हैं, लेकिन नौनिहालों के लिए शासन स्तर पर जो मापदंड आंगनबाड़ी केंद्र में निर्धारित किए गए हैं उसके अनुरूप सुविधाएं बच्चों को नहीं मिल पा रही है। यहां दो आंगनबाड़ी केन्द्र ही भवन में चल रहे हैं। दो किराए के कमरों में और दो के लिए भवन मिल गए हैं पर ग्राम पंचायत की मनमानी से अधूरे हैं जिसके चलते एक आंगनबाड़ी केंद्र ग्राम पंचायत भवन के एक कक्ष में तो दूसरा सामुदायिक भवन में अव्यवस्थाओं के बीच लग रहे हैं। पंचायत के सरपंच सचिव की मनमानी और भ्रष्ट कार्यशैली की वजह से नवीन भवन राशि आवंटन के बावजूद समय सीमा में तैयार नहीं हो सके हैं। राशि आहरित कर ली गई और कार्य पूरे नहीं कराए गए। भवन के पूरा न बनने से आंगनबाड़ी केन्द्र असुविधाओं के बीच उधार के भवन में चल रहे हैं।

    मिनी आंगनबाड़ी केन्द्र की दशा

    ग्राम पंचायत दैखल के बंधवाटोला वार्ड में और नदिया टोला में मिनी आंगनबाड़ी केन्द्र खोली गई हैं। बंधवाटोला का आंगनबाड़ी एक किराए के घर में चल रहा है जहां पानी और शौचालय की उचित व्यवस्था नहीं हैं, बच्चे बाहर जाते हैं। बैठने के लिए भी पर्याप्त जगह न होने से कर्मचारियों को सामग्री रखने और महिलाओ व किशोरियों से जुड़ी योजनाओं और गतिविधियों के संचालन में समस्या आती है। इसी तरह नदिया टोला का आंगनबाड़ी एक सामुदायिक भवन के एक कमरे में खोला गया है जहां पेयजल के लिए हैंडपंप नहीं है। शौचालय भी न होने से समस्या आती है।

    भवन वाले आंगनबाड़ी भी जूझ रहे समस्या से

    पंचायत के जोड़ा तलबा और मौहार टोला में आंगनबाड़ी के लिए भवन हैं। जोड़ा तलबा में जो भवन है वह कई वर्ष पुराना है। इसमें शौचालय न होने से छोटे बच्चो को दिक्कत आती है। पानी के लिए हैण्डपंप तो उपलब्ध है पर पानी पीला आता है लिहाजा पीने के लिए बाहर से दूसरा पानी मंगाया जाता है। मौहारटोला में दोनो व्यवस्थाएं हैं।

    बांका टोला का नवीन भवन अधर में

    टाइल्स भवन के निर्माणाधीन होने से आंगनबाड़ी केन्द्र बांकाटोला के बच्चो को बदहाल परिवेश में रहना पड़ता है। बांकाटोला का केन्द्र एक किराए के मकान स्थित बरामदे में लग रहा है। यहां हैंडपंप और शौचालय की व्यवस्था नहीं है। हैण्डपंप मकान से 500 मीटर दूर एक मंदिर के पास है जहां से पानी लाया जाता है। बांकाटोला आंगनबाड़ी केन्द्र में टाइल्स अभी तक नहीं लग पाई है। रंग रोबन और विद्युत फिटिंग का कार्य भी अधूरा पड़ा है। पिछले एक वर्ष से यह भवन निर्माणाधीन है। यहां मवेशी आकर रहते हैं। इस भवन का निर्माण ग्राम पंचायत करा रही है लेकिन राशि मिलने के बावजूद कार्य में लेटलतीफी हो रही है।

    शौचालय और पानी के बगैर लग रही आंगनबाड़ी

    दैखल पंचायत का ग्राम पंचायत पुरानी बस्ती में है। जहां के आंगनबाड़ी को भवन न होने पर पंचायत भवन के सभागार कक्ष में अस्थाई रूप से संचालित किया जा रहा है। पंचायत भवन की हालत यह है कि शासन के निर्देश के बावजूद यहां हैण्डपंप पेयजल के लिए अभी तक नहीं स्थापित हो पाया है। इसी तरह शौचालय भी यहां नहीं है। पूरे जनपद में यह पंचायत ऐसा है जहां दोनों मुख्य सुविधाएं नहीं है। ऐसा भी नहीं है कि शौचालय का निर्माण नहीं हुआ लेकिन वर्षो से एक व्यक्ति ने शौचालय को अपने कब्जे में करके उपयोग कर रहा है जहां पंचायत में आए लोग और आंगनबाड़ी के बच्चे इस्तेमाल नहीं कर पाते। पंचायत की उदासीनता का ही परिणाम है कि शौचालय को कब्जे से मुक्त नहीं कराया जा सका है जबकि वह सरकारी स्तर से बना है। पुरानी बस्ती का आंगनबाड़ी भवन चार वर्ष से अधूरा है। फर्श पूरा नहीं बना है, सेप्टी टैंक, टायलेट न होने और दरवाजा न लगने के कारण इस भवन में आंगनबाड़ी संचालित नहीं हो पा रही है। पंचायत को कार्य हेतु राशि भी मिली हुई है लेकिन वर्तमान पंचायत इस कार्य को कराने में लापरवाही कर रही है।

    ..............

    पंचायत के सरपंच, सचिव को कई बार कहा गया कि वे दोनो निर्माणाधीन आंगनबाड़ी भवन को प्राथमिकता से पूरा कराएं, दोनो भवन के लिए राशि इन्हे मिल चुकी है पर वे हमारी नहीं सुन रहे। इसकी सूचना जिला पंचायत में दे दी गई है। पुनः प्रयास किया जा रहा है कि यह कार्य जल्द सरपंच सचिव करा दें

    राजेश शर्मा उपयंत्री जनपद बदरा

    बांका टोला और पुरानी बस्ती के आंगनबाड़ी भवन को पंचायत पूरा बनाकर नहीं दी है। जिसके कारण उनके दो आंगनबाड़ी असुविधाओं के बीच लग रहे हैं। जहां भी कमियां है पंचायत व विभाग को जानकारी दे दी जाती है

    देवकी मरावी सुपरवाइजर परियोजना महिला एवं बाल विकास विभाग अनूपपुर

    और जानें :  # nn nnn
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें