Naidunia
    Sunday, September 24, 2017
    PreviousNext

    MP के लोगों की जलहत्या, गुजरात के लोगों से झूठ : मेधा पाटकर

    Published: Sun, 17 Sep 2017 06:37 PM (IST) | Updated: Sun, 17 Sep 2017 10:13 PM (IST)
    By: Editorial Team
    medha patkar 17 09 2017

    बड़वानी-अंजड़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन नर्मदा घाटी के लोगों का मरण दिवस साबित होगा। बगैर संपूर्ण पुनर्वास के देश की सबसे बड़ी परियोजना का लोकार्पण मनमानी और सुप्रीम कोर्ट के आदेश व आंदोलनकारियों की मांगों को नजरअंदाज करना लोकतंत्र के खिलाफ है। अभी परियोजना की नहरों का कार्य नहीं हुआ है। यह कृत्य मप्र के डूब प्रभावितों की हत्या और गुजरात के लोगों के साथ झूठ के समान है। यह सरदार सरोवर का सिर्फ राजनीतिक शुभारंभ है, वास्तविक नहीं। यहां संघर्ष रुकेगा नहीं, बल्कि आंदोलन और तेज किया जाएगा।

    यह बात रविवार को ग्राम छोटा बड़दा में नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेत्री मेधा पाटकर और आंदोलन कार्यकर्ताओं ने कहीं। छोटा बड़दा में 48 घंटे बाद रविवार शाम जल सत्याग्रह का समापन किया गया। डूब प्रभावितों और कार्यकर्ताओं ने नर्मदा के बीच पहुंच मां नर्मदा की आरती कर संघर्ष को जारी रखने का संकल्प लिया।

    इस दौरान कांग्रेस के राजपुर विधायक बाला बच्चन और कुक्षी विधायक हनी बघेल ने भी कुछ देर आंदोलनकारियों के साथ जल सत्याग्रह किया। कांग्रेस विधायकों व अन्य जनप्रतिनिधियों ने आंदोलन को समर्थन दिया। उधर, शनिवार रात से नर्मदा के जलस्तर में वृद्धि थम गई है। रविवार शाम नर्मदा का जलस्तर कुछ कम होकर 128.900 मीटर रहा। हालांकि अब यह देखने योग्य होगा कि जलस्तर थमा रहता है, घटता है या बढ़ता है।

    खरगोन जिले के कसरावद में नर्मदा तट स्थित ग्राम नावड़ातौड़ी (सांयता) में प्रभावितों ने जल सत्याग्रह किया। तीन लोगों ने मुंडन कराकर अपना विरोध जताया। प्रभावितों का कहना था कि केवल सात लोगों को ही प्रभावित माना गया है जबकि पूरा गांव प्रभावित है।

    इधर, धार जिले के निसरपुर में नर्मदा का जल स्थिर हो गया है। 18 घंटे में महज नदी का जलस्तर 10 सेमी ही बढ़ पाया है। इसके चलते निसरपुर में लोगों का विस्थापन थम गया है, वहीं निचली बस्ती जलमग्न हुई तो कई कच्चे मकान पानी के कारण ध्वस्त हो गए हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें