Naidunia
    Wednesday, July 26, 2017
    PreviousNext

    शहीद के बेटे ने पूछा- पापा को क्या हुआ, बिलखकर रो पड़ीं दादी

    Published: Thu, 16 Feb 2017 10:42 PM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 11:54 AM (IST)
    By: Editorial Team
    shaheed ka beta 2017217 115423 16 02 2017

    गोहद। घर में सब रो क्यों रहे हैं। पापा को क्या हुआ है। दादी कोई बता क्यों नहीं रहा। पांच साल के मासूम धु्रव ने जब यह सवाल किए तो दादी सीता देवी बिलखकर रो पड़ी। छत्तीसगढ़ के दंवेवाड़ा जिले में नक्सलियों की मुठभेड़ में शहीद हुए जवान जितेंद्र चतुर्वेदी के घर में उनके शहीद होने की खबर आने के बाद से ही मातम पसरा है। गुरुवार को सुबह से ही नगर के लोगों का पहुंचना शहीद के घर पर लगा रहा। परिवार के लोगों का कहना है शहीद की पार्थिव देह देर रात तक गोहद आ पाएगी। शुक्रवार को शहीद का सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

    पत्नी का भी रो-रोकर बुरा हाल

    नक्सलियों से लोहा लेने के लिए छत्तीसगढ़ एसटीएफ के जवान जितेंद्र पुत्र राकेश चतुर्वेदी बुधवार को मुठभेड़ के दौरान अपने प्लाटून कमांडर के साथ शहीद हो गए थे। उनके शहादत की खबर के बाद से ही गोहद के वार्ड 2 स्थित घर में मातम पसरा है। पत्नी वर्षा का रो-रोकर बुरा हाल है। शहीद की मां सीता देवी अपने आंसू पोंछकर कभी बहू को संभालती तो कभी खुद ही होश खो बैठती। पड़ोस की महिलाएं वर्षा को ढांढस बंधाती, लेकिन आंखों से आंसू बहना बंद नहीं होते।

    मंत्री एसडीएम से पार्क के लिए जमीन की मांग

    वकीलों ने जितेंद्र की शहादत के बाद एकत्रित होकर राज्यमंत्री लाल सिंह आर्य और एसडीएम आशीष वशिष्ठ को ज्ञापन देकर पार्क के लिए जमीन देने की मांग की है। वकीलों ने मंत्री से कहा कि नगर में शहीदों के नाम पर एक भी पार्क नहीं है। ऐसे में नागरिक एक जगह एकत्रित होकर शहीदों को याद नहीं कर पाते हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी