Naidunia
    Tuesday, January 17, 2017
    PreviousNext

    लांस नायक यज्ञ प्रताप ने चौबीस घंटे बाद की 45 सेकंड बात

    Published: Sat, 14 Jan 2017 08:08 PM (IST) | Updated: Sat, 14 Jan 2017 08:08 PM (IST)
    By: Editorial Team

    फॉलोअप मोनो

    फोटो- 16 -यज्ञ प्रताप सिंह की पत्नी ऋचा सिंह जानकारी देती ।

    पत्नी ऋ चा सिंह ने अफसरों पर लगाया टार्चर करने का आरोप

    रीवा। सेना के अफसरों पर गंभीर आरोप लगाने वाले लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह की पत्नी ऋ चा सिंह ने जिला प्रशासन से पति से बात कराने की गुहार लगाई है। उन्होंने बताया कि चौबीस घंटे बाद पति से शनिवार को करीब 45 सेकंड ही बात हो पाई। इस दौरान उन्होंने बताया कि वे अपनी लड़ाई जारी रखे हुए हैं और सेना के जवानों को इस गुलामी से मुक्ति दिलाने के लिए अब भूख हड़ताल करने जा रहे हैं। इसी बीच उनका मोबाइल अधिकारियों ने छीन लिया। अब उनका फोन भी नहीं लग रहा है। ऋचा ने आशंका जताई है कि आर्मी के अफसर उनके पति को टॉर्चर कर रहे हैं। उनके प्राण भी संकट में हैं। भारत सरकार इस मामले में तत्काल निर्णय ले। जिससे वे अपने पूरे परिवार के साथ निश्चिंत होकर जीवन जी सके।

    नहीं जल रहा चूल्हा

    फतेगढ़ में पदस्थ लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह ने जहां अपनी पत्नी को भूख हड़ताल की जानकारी फोन पर दी है वहीं घर में बैठी पत्नी ने भी घर का चूल्हा नहीं जलाया। वे अपने पति के फोन आने के इंतजार में बैठी हुई है। उसका कहना है कि पति ने खाना-पीना छोड़ा है तो वे घर का चूल्हा कैसे जला सकती हैं। जब तक उनका पति सही सलामत फोन पर बराबर बात नहीं करेगा वे भी घर में चूल्हा नहीं जलाएंगी।

    दिया जाए मोबाइल

    ऋचा सिंह की मांग है कि शासन-प्रशासन इस मामले में पहल करे और उनके पति को मोबाइल उपलब्ध कराए। जिससे वे बराबर बात कर सकें। साथ ही सरकार भयमुक्त जीवन के लिए भी पहल करे। उन्हें अंदेशा है कि अधिकारी वर्ग नाराज होकर उनके पति के जीवन को बर्बाद कर देंगे। ऐसे में उनके पति सहित पूरा परिवार दहशत में है।

    यह है मामला

    लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह ने एक वीडियो वायरल किया था। जिसमें आर्मी अधिकारियों द्वारा सैनिकों के साथ जिस तरह का व्यवहार और कामकाज कराया जा रहा है उससे उनका सम्मान लगातार गिर रहा है। ऋचा सिंह ने बताया कि जारी वीडियो में सैनिकों से आर्मी अफसर कार की सफाई, बूट पालिस, कुत्तों की देखभाल, घर-गृहस्थी के कामकाज से लेकर उनके बच्चों व परिवार के सदस्यों को बाजार ले जाने और सामान खरीदकर उसका बोझ उठाने कहते हैं। जिसे उन्होंने वीडियो के माध्यम से उजागर किया है। चूंकि फौकी की नियुक्ति देश सेवा और सुरक्षा के लिए की जाती है। लेकिन आर्मी अधिकारी घर की बेगारी कराकर उनके सम्मान को ठेस पहुंचा रहे है और सैनिकों के सम्मान के लिए उनके पति ने यह लड़ाई शुरू की है।

    और जानें :  # yagya pratap singh
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी