Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    मुंबई की पहचान बेस्‍ट बसों का लाल रंग बदलने की तैयारी

    Published: Thu, 20 Apr 2017 05:12 PM (IST) | Updated: Fri, 21 Apr 2017 12:08 PM (IST)
    By: Editorial Team
    best-new-bus 2017421 12829 20 04 2017

    मुंबई। स्‍थानीय परिवहन की बेस्‍ट की लाल बसें दशकों से मुंबई शहर की पहचान रही हैं। यहां के यात्रियों के लिए यह जिंदगी का अहम हिस्‍सा रही है। लेकिन अब इसकी पहचान बदलने वाली है। सौ साल से अधिक पुरानी इस बस परिवहन का प्रबंधन अब इसके रंग को बदले जाने को लेकर मुंबइया लोगों से राय जानना चाहता है।

    इन बसों का रंग लाल से बदलकर सफेद और पीला किया जाना प्रस्‍तावित है। इस बदलाव का रूझान जानने के लिए शुरुआती तौर पर दो बसों को सफेद और पीले रंग में रंगकर ट्रायल किए जाने की तैयारी है। कलर कोड में बदलाव इस व्‍यवस्‍था की कायापलट के लिए अच्‍छा अवसर है।

    नए रंग में रंगी बसों के भीतर और स्‍टाप पर फ्री वाईफाई सुविधा दिए जाने की भी योजना है। साथ ही यात्रियों के लिए मोबाइल फोन पर रीयल टाइम लोकेशन और यात्रा का अनुमानित समय जानने की सुविधा देने वाली तकनीक की भी पेशकश है। हालांकि यह बदलाव तभी मूर्त रूप लेगा जब यात्रियों की प्रतिक्रियाएं मिलेंगी।

    यह रायशुमारी बसों के भीतर, सोशल मीडिया के ज़रिये की जाएगी। कलर कोड में बदलाव की यह योजना असल में जेजे स्‍कूल ऑफ आर्ट्स के स्‍टूडेंट्स के दिमाग की उपज है।

    बेस्‍ट बस समित‍ि के एक सदस्‍य केदार होंबालकर रंग बदलने के पक्ष में नहीं हैं। वे कहते हैं कि ट्रायल बेसिस पर नया कलर लागू करने की बजाय प्रशासन को सबसे पहले जनता की राय जानना चाहिए।

    बेस्‍ट बसों के जनरल मैनेजर जगदीश पाटिल कहते हैं कि हम रातोरात बसों का रंग बदलने नहीं जा रहे हैं। यह केवल एक सुझाव है और 3800 बसों में से महज दो पर ही रंग किया जाएगा। वह भी लोगों की प्रतिक्रिया जानने के लिए। अंतिम निर्णय लेने से पहले हम फेसबुक व ट्विटर पर एक ऑनलाइन सर्वे भी करेंगे।

    बेस्‍ट बसों के बारे में यह भी जानिये

    28 लाख यात्रियों की संख्‍या के साथ यह यह दूसरा सबसे बड़ा सार्वजनिक परिवहन तंत्र है। उपनगरीय रेलवे सेवाओं में यात्रा करने वाले 75 लाख यात्रियों के बाद मुंबई महानगरीय क्षेत्र में यह दूसरे क्रम पर है। हालांकि पिछले कुछ वर्षों में बसों की धीमी गति और संकरे रास्‍तों के कारण बस के यात्रियों की संख्‍या कम हुई है। बसों का किराया भी बढ़ा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें