Naidunia
    Saturday, September 23, 2017
    PreviousNext

    बंद फ्लैट से आ रही थी बदबू, ताला खुला तो हकीकत आई सामने

    Published: Thu, 14 Sep 2017 12:26 PM (IST) | Updated: Thu, 14 Sep 2017 04:10 PM (IST)
    By: Editorial Team
    cats in pune img new 2017914 13187 14 09 2017

    पुणे। जानवरों के खिलाफ क्रूरता के लिए बने कड़े कानून के बाद भी कई लोग बेजुबानों की जिंदगी मुश्किल में डालते हैं। पुणे में ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जहां किराए के एक अपार्टमेंट में 30 बिल्लियों को बंद कर रखना दो बहनों के लिए भारी पड़ गया। घटना पुणे के सोपानबाग स्थित एक अपार्टमेंट की है।

    सोसाइटी के एक सदस्‍य ने पुलिस से संपर्क कर शिकायत कर दी कि अपार्टमेंट से आ रही बदबू के कारण बच्‍चे बीमार पड़ रहे हैं। वहीं सोसाइटी के कुछ अन्‍य लोगों ने जानवरों के लिए काम करने वाले एक एनजीओ से भी संपर्क किया, जिसके बाद पुलिस के साथ मिलकर अपार्टमेंट में बंद बिल्लियों को बचाया गया और दोनों बहनों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर दिया गया।

    घटनास्‍थल पर पहुंची टीम उस वक्‍त और हैरान रह गई, जब दोनों बहनों के खुद के एक अपार्टमेंट में भी 15 और बिल्लियां पाई गईं। एनिमल वेलफेयर ऑफ इंडिया के अधिकारी मेहर माथ्रानी द्वारा कोंढ़वा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद यह पूरा मामला प्रकाश में आया। आरोपियों की पहचान संगीता कपूर (58 वर्ष) और दीपिका कपूर (30 वर्ष) के रूप में हुई है, जो फरार हैं।

    सीनियर पुलिस इंस्‍पेक्‍टर सतीश गोवेकर ने बताया कि बहनों ने पांच साल पहले किराए पर एक फ्लैट लिया था। इससे पहले कई बार सोसाइटी के सदस्‍यों ने उन्‍हें अपार्टमेंट साफ ररखने की बात कही थी, क्‍योंकि वहां से बदबू आती थी। इसके कारण बच्‍चे बीमार हो रहे थे। बिल्लियों को बहुत ही गंदी स्थिति में रखा गया था।

    जब हमने अपार्टमेंट का दरवाजा तोड़ा तो वहां 30 बिल्लियां थीं। उन्‍हें बचा लिया गया है और एक स्‍थानीय एनिमल शेल्‍टर को सौंप दिया गया है। बहनों का उसी सोसाइटी में एक अन्‍य अपार्टमेंट भी था। जब उनकी तलाश में टीम वहां पहुंची तो 15 और बिल्लियां बरामद हुईं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें