Naidunia
    Wednesday, June 28, 2017
    Previous

    बहनों ने कहा- प्रॉस्टीट्यूट और ड्रग एडिक्ट नहीं हैं हम, हमें माता-पिता से बचाएं

    Published: Thu, 20 Apr 2017 02:41 PM (IST) | Updated: Fri, 21 Apr 2017 08:58 AM (IST)
    By: Editorial Team
    malad sisters 20 04 2017

    मुंबई। मुंबई क मलाड के रहने वाली दो बहनों ने बॉम्बे हाईकोर्ट से मदद की गुहार की है। उन्होंने हाथों में तख्तियां लेकर कहा कि न तो हम वेश्याएं हैं और न ही हमें नशे की लत है। 23 वर्षीय शिवंगी सूले ने अपनी 21 वर्षीय बहन समीरा के साथ एक स्वतंत्र जीवन जीने के लिए अपने माता-पिता का मालाड स्थित घर छोड़ दिया है।

    दोनों बहनें बॉम्बे हाईकोर्ट से मारीन ड्राइव गईं, जहां वह तख्तियां लिए थीं, जिसमें लिखा था माननीय बॉम्बे हाईकोर्ट, हम पीड़ित हैं और हमें न्याय की जरूरत है। उनके सामने से गुजरने वाले हर व्यक्ति का ध्यान वे आकर्षित कर रही थीं क्योंकि उनके हाथों में दिख रहे प्लेकार्ड में उनके मामले की पूरी जानकारी थी।

    माता-पिता की शिकायत के आधार पर उनके खिलाफ कार्रवाई न करने के बाद हाई कोर्ट ने मालाड पुलिस को फटकार लगाई थी, जिसके एक दिन बाद दोनों बहनों ने यह विरोध प्रदर्शन किया। दोनों बहनों ने आरोप लगाया कि पिछले साल 24 दिसंबर को उनके माता-पिता ने उनके कमरे में बंद करके प्रताणित किया था।

    डॉक्टर सुनील कुलकर्णी के साथ मिलकर उनके दोस्तों ने मलाड पुलिस की मदद से दोनों बहनों को बचाया था। इसके बाद दोनों बहनों ने मलाड पुलिस में अपने माता-पिता के खिलाफ शिकायत देकर मामला दर्ज करने की मांग की थी, लेकिन पुलिस ने ऐसा करने से इंकार कर दिया था।

    मलाड पुलिस ने बुधवार को बॉम्बे हाईकोर्ट को सूचना दी कि वह शिफू संस्कृति और इसके संस्थापक सुनील कुलकर्णी के खिलाफ कथिततौर पर सेक्स रैकेट और ड्रग रैकेट चलाने की एफआईआर दर्ज कर सकता है। कोर्ट ने पुलिस से कहा कि वह मामले को हल्के में नहीं ले और गंभीरता से मामले की जांच करे।

    कोर्ट ने यह निर्देश लड़कियों के माता-पिता की ओर से दायर की गई एक याचिका पर सुनवाई करते हुए दिए थे। इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि कथित पंथ समूह ने उनकी बेटियों को फंसा लिया है। मगर, समीरा ने कहा कि उनके माता-पिता उनके बारे में झूठ फैला रहे हैं और बॉम्बे हाई कोर्ट को गुमराह कर रहे हैं। शिफू संस्कृति शरीर और दिमाग को नकारात्मकता से दूर करने का एक तरीका है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी