Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    अमेरिकी अखबार को साड़ी में नजर आया हिंदू राष्ट्रवाद

    Published: Tue, 14 Nov 2017 09:41 PM (IST) | Updated: Tue, 14 Nov 2017 09:54 PM (IST)
    By: Editorial Team
    sarees news 14 11 17 14 11 2017

    नई दिल्ली। विदेशी सोच में पगे लोगों को अब भारतीय परिधान साड़ी में भी हिंदू राष्ट्रवाद नजर आ रहा है। अमेरिकी समाचार पत्र न्यूयॉर्क टाइम्स ने तो इसपर बकायदा आलेख प्रकाशित किया है। शीर्षक है, 'भारत में फैशन हुआ राष्ट्रवादी।' भारत में इसपर तीखी प्रतिक्रिया हुई है।

    आलेख के अनुसार नरेंद्र मोदी के 2014 में प्रधानमंत्री पद की कुर्सी संभालते ही भारत के फैशन उद्योग ने 'फैशन' को भारतीयता के रंग में रंगने की सोच ली। ऐसा इसलिए ताकि मोदी, उनकी पार्टी और हिंदू राष्ट्रवादियों को प्रसन्न किया जा सके।

    इस विचित्र और हास्यास्पद लेख में यह भी कहा गया है कि पारंपरिक भारतीय परिधानों को बढ़ावा देने की कोशिश में ही विशेष रूप से बनारसी साड़ियों का कारोबार बढ़ा है। बनारस नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है। लेखक अब्दुल कादरी कहते हैं कि चुनाव प्रचार के दौरान मोदी ने बनारसी साड़ी कारोबार को बढ़ावा देने का वादा किया था।

    कादरी भारत के विकास में सबसे बड़ी बाधा हिंदू राष्ट्रवाद को करार देते हैं। इस लेख को ट्विटर पर बकवास करार देते हुए भारतीय महिला रश्मि बंसल ने कहा कि साड़ी कोई हिंदू परिधान नहीं है। भारत को आप जैसे लोग नहीं समझ सकेंगे।

    पद्मजा जोशी पूछती हैं कि क्या 2014 के पहले भारत में किसी ने साड़ी नहीं पहनी थी? कुछ ने लेखक की सोच पर सवाल उठाए हैं और कहा है कि आपका शोध बहुत निम्न स्तर का है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें