Naidunia
    Wednesday, November 22, 2017
    PreviousNext

    इतनी आसानी से मोबाइल नंबर हो जाएगा आधार से लिंक

    Published: Tue, 12 Sep 2017 09:44 AM (IST) | Updated: Tue, 12 Sep 2017 12:35 PM (IST)
    By: Editorial Team
    sim aadhar 12 09 2017

    नई दिल्ली। लोकनीति फाउंडेशन के मामले में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा पारित किए गए आदेश के बाद सरकार ने नए निर्देश दिए हैं। इसके तहत हर व्यक्ति को अपने मोबाइल नंबर को आधार के साथ लिंक करना अनिवार्य है। इस काम के लिए सरकार ने आखिरी तारीख फरवरी 2018 की तय की है।

    यदि इस तारीख तक कोई व्यक्ति अपने मोबाइल नंबर को आधार नंबर के साथ लिंक नहीं करता है, तो उसका मोबाइल नंबर बंद कर दिया जाएगा। सिम के साथ आधार जोड़ने से मोबाइल यूजर्स को बेहद मदद मिलती है क्योंकि आधार ई-केवाईसी के साथ इसे करने में महज 30 मिनट लगते हैं। वहीं, पुरानी व्यवस्था में दो दिनों तक लग जाते थे और मोबाइल यूजर को फोटो आईडी प्रूफ के साथ कई दस्तावेज देने होते थे।

    यूआईडीएआई के आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई 2017 तक करीब 33.8 करोड़ मोबाइल सिम कार्ड को ई-केवाईसी के माध्यम से जोड़ा गया है। इस कदम का मकसद मौजूदा मोबाइल यूजर्स की प्रभावी ढंग से जांच करना है ताकि अपराधियों, धोखेबाज और आतंकवादियों द्वारा की जाने वाले किसी भी अप्रिय घटनाओं पर एक नजर रखी जा सके।

    आपके सिम के साथ आधार संख्या का लिंक सिर्फ ऑफलाइन मोड में ही किया जा सकता है क्योंकि वन टाइम पासवर्ड से प्रमाणीकृत लेन-देन नहीं होता है। इसके लिए आपको आपके टेलीकॉम ऑपरेटर के किसी भी स्टोर पर जाकर अपनी आधार संख्या बतानी है। वहां आपको कोई अन्य कागजात नहीं दिखाने होंगे, वहां सिर्फ आपको अपने बायोमेट्रिक फिंगरप्रिंट्स ही देने हैं।

    मोबाइल नंबर और आधार को लिंक करने के लिए ऑफलाइन मोड इसलिए रखा गया है, ताकि ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचा जा सके, नहीं तो पूरी प्रक्रिया ही विफल हो जाएगी। एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक मोबाइल नंबर के ऑनलाइन लिंक से सिक्योरिटी रिस्क होता है। उन्होंने कहा कि यदि कोई जालसाज आपके आधार नंबर, नाम और अन्य विवरणों को जानता है, तो वह आपके आधार को मोबाइल नंबर जोड़ सकता है। ऐसे में यदि वह व्यक्ति कोई अपराध करता है, तो पुलिस आपके घर पहुंचेगी।

    कोई भी टेलीकॉम कंपनी किसी भी बॉयोमीट्रिक इंफॉर्मेंशन और पर्सनल डेटा को संग्रहित नहीं कर सकती हैं क्योंकि इस जानकारी को दूरसंचार कंपनी द्वारा कलेक्ट करने के बाद उसे एन्क्रिप्ट करना है। ऐसा नहीं करने पर टेलीकॉम कंपनी के खिलाफ आपराधिक मामला चलाया जा सकता है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=
    • Karuna Luha13 Sep 2017, 05:31:13 PM

      हमे को लिन्क देना चाहिए आधार कार्ड मोबाइल में लिन्क करने के लिये

    जरूर पढ़ें