Naidunia
    Sunday, September 24, 2017
    Previous

    बुलेट ट्रेन 2019 तक चल जाए तो मोदी-शाह को उसी में बैठा कर घर भेज देंगे - विपक्ष

    Published: Thu, 14 Sep 2017 07:24 PM (IST) | Updated: Fri, 15 Sep 2017 09:49 AM (IST)
    By: Editorial Team
    modi bullet 14 09 2017

    जयपुर। जयपुर में गुरुवार को बिखरा विपक्ष एकजुट हो कर एक मंच पर आया और प्रधानमत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा पर जम कर हमला बोला।

    जनता दल यू के नेता शरद यादव की अगुवाई में हुए इस साझा विरासत बचाओ सम्मेलन में इस बात पर चिंता जाहिर की गई कि केन्द्र सरकार देश के संविधान को भूल कर यहां की साझा विरासत और संस्कृति को खत्म कर रही है।

    वक्ताओं ने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुलेट ट्रेन का शिलान्यास किया है और हम चाहते हैं कि यह ट्रेन 2019 तक चल जाए ताकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह को इसी ट्रेन में बैठा कर गुजरात वापस भेज दिया जाए।

    दिल्ली और पटना के बाद यह तीसरा साझा विरासत बचाओ सम्मेलन जयपुर में किया गया था। हाालंकि सम्मेलन में ज्यादातर बडे चेहरे नदारद थे। मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, मायावती, तीनों ही इस सम्मेलन मे नहीं आए। अन्य दलो से भी ज्यादा जाने-पहचाने चेहरे नहीं थे।

    सम्मेलन में राजस्थान में हुआ था और यहां कांग्रेस कुछ बेहतर स्थिति में है, इसलिए मेजबानी कांग्रेस ने की। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट और नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी मंच पर मौजूद थे। राष्ट्रीय स्तर से सिर्फ आनंद शर्मा आए और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी सम्मेलन में नहीं पहुंचे।

    सम्मेलन में वक्ताओं ने इस बात को माना कि विपक्ष बिखरा हुआ है और इसी का फायदा उठा कर भाजपा आगे बढ रही है, लेकिन इस बात पर संतोष भी जाहिर किया गया कि अब तस्वीर बदल रही है। विश्वविद्यालयों के चुनावों में राजस्थान से दिल्ली तक कांगे्रेस का अग्रिम संगठन एनएसयूआई जीत हासिल कर रहा है।

    सरकार का नेगेटिव दौर शुरू हो गया है। अभियान की अगुवाई कर रहे शरद यादव ने कहा कि यह सरकार सिर्फ 31 प्रतिशत वोटों से बनी हुई सरकार है।

    कांग्रेस ही नहीं पूरे विपक्ष को खत्म करना चाहती है, लेकिन हमारा अभियान बाकी बचे 69 प्रतिशत लोगों को एकजुट करने का अभियान है और हम इसे सफल बनाने में पूरी ताकत लगाएंगे। हम जनता को गोलबंद करेंगे और यह ध्यान रखना चाहिए कि जनता के सामने कोई नहीं टिकता।

    कांग्रेस के आनंद शर्मा ने कहा कि देश को प्रचारक नहीं शासक चाहिए। सरकार डराने की कोशिश कर रही है। विपक्ष के लोगों को टार्गेट कर रही है, लेकिन न हम डरें और न झुकेंगे।

    हमें हमारी विरासत की हिफाजत करनी है और वह हम कर के रहेंगे। सरकार प्रचार तंत्र पर कितना भी कब्जा कर ले, लेकिन जनता जाग रही है।

    माकपा के सीताराम येचुरी ने कहा कि आज हमारी विरासत पर जिस तरह हमले हो रहे है, उससे तो यह देश ही नहीं बचेगा। इसलिए पहले देश को बचाना जरूरी है।

    देश को कट्टर हिन्दू राष्ट्र बनाने की कोशिश की जा रही है। देश के चरित्र को बदलने की साजिश चल रही है और यह अभियान इसी के विरोध मे शुरू किया गया है।

    सचिन पायलट ने कहा कि भाजपा कांग्रेस मुक्त भारत की बात कर रही है, लेकिन ऐसा कभी नहीं हो सकता, उल्टे राजस्थान से तो अगले चुनाव में भाजपा का ही बोरिया बिस्तरा सिमट जाएगा।

    सम्मेलन को तृणमूल कांग्रेस के शिशेन्दु शेखर रॉय, भाकपा के अतुल कुमार अंजान, नेशनल कांफ्रेेंस के सुरजीत सिंह, राजद के जयंत चैधरी, एनसीपी के तारिक अनवर आदि ने भी सम्बोधित किया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें