Naidunia
    Friday, July 21, 2017
    PreviousNext

    आइआइटियंस को PHD में मिलेंगे दो प्रमाण पत्र

    Published: Tue, 18 Jul 2017 12:24 AM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 09:39 PM (IST)
    By: Editorial Team
    iit-kanpur-college 2017718 03037 18 07 2017

    कानपुर। आइआइटी से पीएचडी करने वाले छात्रों को दो प्रमाण पत्र मिलेंगे। एक प्रमाण पत्र आइआइटी देगी, दूसरा प्रमाण पत्र अमेरिका की बुफैलो यूनिवर्सिटी प्रदान करेगी, जबकि डिग्री एक ही होगी।

    आइआइटी ने बुफैलो के साथ शैक्षणिक समझौता किया है। बुफैलो यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट प्रो. सतीश त्रिपाठी व आइआइटी निदेशक प्रो. इंद्रानिल मन्ना ने सोमवार को इस करार पर हस्ताक्षर किए।

    अमेरिका के किसी विश्वविद्यालय से यह आइआइटी का पहला शैक्षणिक करार है जबकि बुफैलो यूनिवर्सिटी भी पहली बार किसी दूसरे संस्थान के साथ डिग्री प्रोग्राम के लिए करार कर रही है।

    आइआइटी में होने वाले शोध कार्यों से प्रभावित होकर 171 साल पुराने संस्थान ने अनुसंधान व शैक्षणिक आदान प्रदान के लिए समझौता किया है।

    शुरुआत साइबर सिक्योरिटी व पर्यावरण कोर्स से पीएचडी की संयुक्त शिक्षा की शुरुआत साइबर सिक्योरिटी व पर्यावरण जैसे कोर्स से हो सकती है।

    बुफैलो यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट प्रो. सतीश त्रिपाठी ने बताया कि विश्वस्तर पर इन विषयों पर शोध अधिक हो रहा है। कई छात्रों की रुचि इन विषयों में हो सकती है।

    पीएचडी का संयुक्त कार्यक्रम दोनों संस्थानों के प्रोफेसर, सुपरवाइजर व छात्रों तीनों पर रुचि पर निर्भर है।

    इन दो विषयों पर अधिक काम हो रहा है इसलिए इसके साथ पीएचडी की शुरुआत हो सकती है जबकि छात्र पीएचडी के संयुक्त कार्यक्रम के तहत किसी भी विषय को चुन सकेंगे।

    इस करार के तहत दोनों संस्थानों के छात्रों को कम से कम एक साल के लिए दोनों संस्थानों में पढ़ाई करनी होगी।

    पीएचडी के संयुक्त कार्यक्रम में सीधे नहीं मिलेगा दाखिला

    आइआइटी निदेशक प्रो. इंद्रानिल मन्ना ने बताया कि पीएचडी के संयुक्त कार्यक्रम के लिए छात्रों का चुनाव दोनों संस्थान करेंगे। आइआइटी में पीएचडी में दाखिला लेने वाले छात्रों को ही इस कोर्स के लिए चुना जाएगा।

    उनका चयन दो सुपरवाइजर करेंगे। पीएचडी का यह कार्यक्रम शुरू करने के लिए दोनों संस्थानों के प्रोफेसर आपस में बातचीत कर रहे हैं।

    उप निदेशक प्रो. मणींद्र अग्रवाल बुफैलो यूनिवर्सिटी के कई प्रोफेसरों से मिल भी चुके हैं जबकि जल्द ही कंप्यूटर साइंस के विभागाध्यक्ष वहां जाने वाले हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी