Naidunia
    Wednesday, May 24, 2017
    Previous

    किराने की दुकान चलाते हैं पिता, लकी ग्राहक योजना से बेटी बन गई करोड़पति

    Published: Sat, 15 Apr 2017 11:14 AM (IST) | Updated: Sat, 15 Apr 2017 11:24 AM (IST)
    By: Editorial Team
    digidhan 2017415 11239 15 04 2017

    नईदिल्ली। महाराष्ट्र के लातूर की रहने वाली श्रद्धा मोहन मैनशेट्टी के पिता एक छोटी सी किराने की दुकान चलाते हैं, लेकिन एक डिजिटल पेमेंट ने उनकी किस्मत बदल दी। श्रद्धा ने लकी ग्राहक योजना के मेगा ड्रॉ में 1 करोड़ रुपए का इनाम जीता है। श्रद्धा ने अपना नया मोबाइल ईएमआई पर खरीदने के लिए कार्ड से पेमेंट किया था। श्रद्धा ने कार्ड से 1590 रुपए का पेमेंट किया था।

    बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जयंती के मौके पर नागपुर में एक कार्यक्रम में खुद पीएम मोदी ने मेगा ड्रॉ के विजेताओं का नाम घोषित कर उन्हें सम्मानित किया। डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू कई दो योजनाओं लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना के तहत के ये इनाम जीते गए हैं।

    अब बंद हो चुकी इस योजना के तहत 16 लाख लोगों ने कुल 258 करोड़ रुपये के ईनाम जीते। इस योजना का दूसरा ईनाम गुजरात के कैमबे के रहने वाले 29 साल के प्राथमिक स्कूल शिक्षक हार्दिक कुमार ने जीता। उन्हें 50 लाख रुपये की राशि दी गई। हार्दिक ने कार्ड का प्रयोग करते हुए 1,100 रुपए का लेनदेन किया था।

    VIDEO: इस जानवर पर हमला कर तेंदुए को तुरंत ही पछताना पड़ा

    25 लाख रुपए का तीसरा पुरस्कार देहरादून उत्तराखंड के 37 साल के भरत सिंह को मिला है जिन्होंने पीएनबी के जरिए मात्र 100 रुपये का डिजिटल ट्रांजेक्शन किया था। भरत ने 9वीं तक की पढ़ाई की है और वे कपड़े की दुकान में काम करते हैं।

    व्यापारियों के लिए चलाई गई डिजिधन व्यापार योजना में चेन्नई के तंबरन के जीआरटी ज्वैलर्स के आनंद अनंतपदमनाभन को 300 रुपए का डिजिटल पेमेंट करने पर 50 लाख रुपए का पुरस्कार मिला। उन्होंने इस रकम को गंगा सफाई अभियान को दान करने की घोषणा की।

    इसी श्रेणी का दूसरा पुरस्कार महाराष्ट्र के थाणे में एक ब्यूटी पार्लर संचालिका रागिनी राजेंद्र उत्तेरकर ने जीता। 510 रुपए का कार्ड से भुगतान कर उन्हें ईनाम में 25 लाख मिले। 12 लाख रुपए का तीसरा इनाम 33 साल के शेख रफी को मिला, जो तेलंगाना एक अमीरपेट में एक थोक कपड़े का स्टोर चलाते हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी