Naidunia
    Monday, December 11, 2017
    PreviousNext

    नौसेना ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

    Published: Fri, 21 Apr 2017 08:22 PM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 10:41 AM (IST)
    By: Editorial Team
    brahmos-missile-test 21 04 2017

    नई दिल्ली। भारत ने युद्धपोत से जमीन पर मार करने वाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। इसके साथ ही नौसेना को समुद्र से दुश्मन के इलाके में अंदर तक मार करने की क्षमता हासिल हो गई है।

    शुक्रवार को सुपरसोनिक लैंड क्रूज मिसाइल के सफल परीक्षण के साथ भारत चुनिंदा देशों के विशिष्ट क्लब में शामिल हो गया है। भारत से पहले केवल अमेरिका, रूस, चीन और ब्रिटेन के पास ही समुद्र से जमीन पर मार करने की लैंड क्रूज सुपरसोनिक मिसाइल क्षमता रही है।

    रक्षा मंत्रालय ने नौसेना के युद्धक जहाज तेग से ब्रह्मोस सुपरसोनिक लैंड क्रूज मिसाइल का परीक्षण कामयाब होने की पुष्टि की। नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने कहा कि मिसाइल ने जमीन पर अपने तय लक्ष्य पर अचूक निशाना साधा।

    इस मिसाइल का परीक्षण बंगाल की खाड़ी में किया गया। लंबी दूरी की ब्रह्मोस मिसाइल का यह संस्करण भारत और रूस ने मिलकर विकसित किया है। ब्रह्मोस मिसाइल का एंटी शिप संस्करण पहले से ही नौसेना के पास है।

    नौसेना के कोलकाता, रणवीर और तेग जैसे जंगी जहाज एंटी शिप मिसाइल से दुश्मन पर प्रहार करने की क्षमता रखते हैं।

    ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के सहारे नौसेना समुद्र में दुश्मन की सीमा से दूर रहते हुए भी उसके अंदर के जमीनी लक्ष्य पर सटीक प्रहार कर सकती है। वैसे भारतीय सेना ने ब्रह्मोस लैंड क्रूज मिसाइल का वर्ष 2007 में ही सफल आपरेशन शुरू कर दिया था।

    ब्रह्मोस मिसाइल से नौसेना को लैस करने का आगाज 2005 में हुआ था। ब्रह्मोस मिसाइल की क्षमता 290 किलोमीटर की दूरी तक मार करने की है।

    भारत अपनी सेनाओं के आधुनिकीकरण के साथ इनकी रणनीतिक सैन्य क्षमता बढ़ाने के लिहाज से 450 से लेकर 800 किलोमीटर रेंज के ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल विकसित करने पर काम कर रहा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें