Naidunia
    Tuesday, October 17, 2017
    PreviousNext

    बाल विवाह और दहेज प्रथा पर सर्वे कराएंगे नीतीश

    Published: Mon, 19 Jun 2017 11:36 PM (IST) | Updated: Mon, 19 Jun 2017 11:40 PM (IST)
    By: Editorial Team
    nitish1 19 06 2017

    पटना। बिहार में संपूर्ण शराबबंदी के बाद नीतीश सरकार समाज में प्रचलित बाल विवाह और दहेज प्रथा को रोकने के लिए दो अक्टूबर से जागरूकता अभियान चलाएगी।

    वहीं बाल विवाह और दहेज प्रथा के दुष्परिणामों का सर्वे भी कराने का राज्य सरकार ने निर्णय लिया है। सर्वे की जिम्मेदारी नौ हजार से अधिक विकास मित्रों को सौंपी जाएगी।

    विकास मित्रों को यह रिपोर्ट तैयार करनी होगी कि सर्वाधिक बाल विवाह की समस्या किन-किन दलित परिवारों में है? परिवार और समाज पर इसके क्या दुष्परिणाम होंगे।

    इसी तरह दहेज प्रथा के कारण परिवारों के समक्षा क्या और किस तरह की समस्याएं आती हैं, इसे लेकर भी सर्वे रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

    बिहार के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री संतोष कुमार निराला ने सोमवार को बताया कि महादलित विकास मिशन की उच्चस्तरीय बैठक में बाल विवाह एवं दहेज पर सर्वे कराने का फैसला लिया गया है।

    इस सर्वे में और किन-किन बिंदुओं को शामिल किया जाए, इसके बारे में एक प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया गया है।

    बाल विवाह और दहेज पर सर्वे कराने से पहले विकास मित्रों को योजनाबद्ध तरीके से इस काम का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण दो चरणों में पूरा होगा।

    पहले चरण में हर जिले से पांच विकास मित्रों को मुख्यालय में मास्टर टे्रनर के रूप में प्रशिक्षण दिलाया जाएगा।

    फिर मास्टर टे्रनरों द्वारा प्रखंड स्तर पर सर्वे संबंधी प्रशिक्षण विकास मित्रों को दिया जाएगा। प्रशिक्षण के बाद दो अक्टूबर से सर्वे कार्य कराया जाएगा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें