Naidunia
    Sunday, August 20, 2017
    PreviousNext

    होनहार बच्चे को आरक्षण ने बना दिया किसान

    Published: Mon, 17 Jul 2017 04:19 PM (IST) | Updated: Wed, 19 Jul 2017 03:20 PM (IST)
    By: Editorial Team
    lijo farmer 17 07 2017

    तिरुवनंतपुरम। आरक्षण का दंश क्या है यह कोई उस बच्चे से पूछे, जो 80 परसेंट नंबर लाकर भी कहीं दाखिला नहीं पा सका। वहीं, 50 फीसद अंक लाकर भी उसके दोस्त दाखिला पाने में सफल रहे। इस बात ने उस लड़के को ऐसा तोड़ दिया कि आगे पढ़ाई छोड़कर किसान बनने का फैसला कर लिया।

    तिरुवनंतपुरम के रहने वाले लीजो जाय का अब यह फेसबुक पोस्ट वायरल हो रहा है। उसे 12वीं में 79.7 परसेंट नंबर लाने के बाद पांच अलॉटमेंट मिले, लेकिन आगे की पढ़ाई के लिए दाखिला नहीं मिला।

    इसके बाद उसने आगे की पढ़ाई छोड़कर किसान बनने का फैसला किया है। वह फावड़े के साथ के खेत में खुदाई करता हुआ दिख रहा है। इसके साथ ही उसने अपनी मार्मिक कहानी भी बयां की है। लिजो ने लिखा है कि उसे खेती करने का विकल्प चुनना पड़ रहा है क्योंकि मौजूदा एजुकेशन सिस्टम में आरक्षण की खराब व्यवस्था है।

    मुझे किसान होने पर गर्व है, लेकिन मैंने यह पेशा मर्जी से नहीं चुना है। मुझे समाज ने किसान बनाया है। लीजो का यह पोस्ट अब वायरल हो रहा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें