Naidunia
    Wednesday, September 20, 2017
    PreviousNext

    यूपी में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, सुलखान सिंह बने नए डीजीपी

    Published: Fri, 21 Apr 2017 10:05 PM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 08:02 AM (IST)
    By: Editorial Team
    dgp-of-uttar-pradesh 2017421 22737 21 04 2017

    लखनऊ। यूपी में सरकार बदलने के साथ ही प्रशासनिक बदलाव भी शुरू हो गए हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को योगी सरकार ने यूपी के डीजीपी जावीद अहमद को हटाकर सुलखान सिंह को नया डीजीपी नियुक्त कर दिया है। सुलखान सिंह 1980 की बैच के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हैं।

    एडीजी कानून-व्यवस्था और अभिसूचना समेत कई महत्वपूर्ण पदों पर भी नई तैनाती की गई है। सरकार ने शुक्रवार को कुल 12 आइपीएस अफसरों का तबादला किया है।

    बांदा जिले के निवासी सुलखान सिंह 30 सितंबर, 2017 को सेवानिवृत्त होने वाले हैं। संभव है कि सरकार उनका कार्यकाल बढ़ाने की भी सिफारिश करे, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट की यह गाइड लाइन है कि डीजीपी की तैनाती दो वर्ष के लिए की जाए।

    सुलखान सिंह सख्त अफसर माने जाते हैं। बसपा सरकार के दौरान उन्होंने भर्ती घोटाले की जांच की थी। सपा सरकार के आने के बाद लंबे समय तक उन्हें महत्वहीन पद पर तैनात किया गया। बहुत बाद में उन्हें डीजी प्रशिक्षण बनाया गया।

    चुनाव के दौरान भाजपा ने लगातार डीजीपी जावीद अहमद को हटाने की निर्वाचन आयोग से मांग की। तब आरोप था कि सपा सरकार ने दर्जनभर अधिकारियों की वरिष्ठता की अनदेखी कर जावीद को डीजीपी बनाया है, लिहाजा उनसे निष्पक्षता की अपेक्षा नहीं की जा सकती है।

    सपा सरकार ने मुस्लिम एंगल से जावीद अहमद को डीजीपी बनाया था। माना जा रहा था कि भाजपा सरकार बनते ही जावीद को हटा दिया जाएगा। हालांकि योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनने के बाद एक माह से अधिक समय तक जावीद अहमद को कुर्सी पर बनाए रखा।

    उन्हें डीजी पीएसी जैसे महत्वपूर्ण पद पर स्थानांतरित भी किया गया है। एडीजी कानून-व्यवस्था दलजीत सिंह चौधरी को भी ईओडब्लू जैसा महत्वपूर्ण दायित्व दिया गया है। भाजपा सरकार ने नए चयन में वरिष्ठता का ध्यान रखा है।

    एडीजी कानून-व्यवस्था बनाए गए आदित्य मिश्रा 1989 बैच के अधिकारी हैं और वह गोरखपुर जोन के आइजी भी रह चुके हैं। इसके अलावा 1987 बैच के आइपीएस अधिकारी भवेश कुमार सिंह को एडीजी अभिसूचना की जिम्मेदारी मिली है।

    भवेश कुमार सिंह भी गोरखपुर जोन के आइजी रह चुके हैं और मेरठ और आगरा जोन के आइजी का भी दायित्व निर्वहन कर चुके हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें