Naidunia
    Sunday, October 22, 2017
    PreviousNext

    अपनी सैलरी से 28 सालों में इस कंडक्टर ने लगाए एक लाख पौधे

    Published: Fri, 13 Oct 2017 05:53 PM (IST) | Updated: Tue, 17 Oct 2017 01:54 PM (IST)
    By: Editorial Team
    yognathan tree 13 10 2017

    कोयम्बटूर। यदि जज्बा हो, तो कोई भी काम मुश्किल नहीं है। इसकी मिसाल हैं 48 साल के एम योगनाथन। वह पिछले 28 सालों में अपनी सैलरी से एक लाख से अधिक पौधे लगा चुके हैं। इस काम की वजह से बस कंडक्टर योगनाथन को लोग ट्री मैन के नाम से भी पुकारते हैं।

    योगनाथन के इस काम को देखते हुए भारत सरकार ने इको वॉरियर अवॉर्ड से सम्मानित किया है और तमिलनाडु सरकार ने सुत्रु सुझाल सेवाई वीरार पुरस्कार से सम्मानित किया है। पर्यावरणविद के रूप में अपने कर्तव्यों को पूरा करने के लिए कई बार उन्हें अपनी नौकरी से भी छुट्टी लेनी पड़ती है।

    अपना समय बिताने के लिए वह नीलगिरी जिले के कोटागिरी जंगल में पेड़ों की छांव में कविताएं लिखते हैं। वह नीलगिरी की सुंदरता को याद करते हैं। लकड़ी माफिया नीलगिरी से लकड़ियों की तस्करी करते थे, जिससे योगनाथन ने लड़ाई लड़ी।

    यह योगनाथन की जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ। उन्होंने फैसला किया कि वह वनों को फिर से स्थापित करने और पर्यावरण की सुरक्षा के लिए जो भी हो सकेगा करेंगे। वह अपनी मासिक आय का 40 फीसद हिस्सा पौधे खरीदने में खर्च करते हैं और स्थानीय स्कूलों और कॉलेज के बच्चों व युवाओं को पर्यावरण के बारे में जागरुक करने के लिए काम करते हैं।

    अभी तक वह तमिलनाडु में एक लाख 20 हजार से अधिक पौधे लगा चुके हैं। हालांकि, वह इससे अधिक करने की इच्छा रखते हैं, लेकिन अल्प आय के कारण वह पर्यावरण के लिए वह सब नहीं कर पा रहे हैं, जो वह करना चाहते हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें