Naidunia
    Sunday, May 28, 2017
    PreviousNext

    13 साल के लड़के को 1 किमी घुटने के बल चलाया

    Published: Fri, 22 Aug 2014 04:02 PM (IST) | Updated: Fri, 22 Aug 2014 04:35 PM (IST)
    By: Editorial Team
    child-abuse 2014822 16519 22 08 2014

    बेंगलूर। बेंगलूर के एक गर्वमेंट शेल्‍टर में 13 वर्षीय लड़के को डंडे से बुरी तरह पीटने का मामला सामने आया है। लड़के को अनाथ समझकर गलती से यहां लाया गया था। लड़के ने बताया कि उसे वहां बुरी तरह से पीटने के बाद एक किलोमीटर तक घुटने के बल चलने के लिए मजबूर किया गया। इसके साथ ही उससे शौचालय और रसोई घर भी साफ कराया गया।

    घटना की जानकारी मिलने के बाद लड़के की मां ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। मां ने कहा कि बच्‍चों को इस तरह से कौन पीटता है? उन लोगों को निश्‍िचत रूप से कड़ी सजा मिलनी चा‍हिए। उन्‍होंने बताया कि चोट और भय के कारण लड़का दो दिनों तक खाना नहीं खा पाया।

    बॉस्‍को एनजीओ ले गया था

    पीड़ित लड़के का कहना है कि उसे बस स्टॉप के पास से एक संस्‍था वाले अपने साथ ले गए थे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह संस्‍था बॉस्‍को नाम से जानी जाती है और ऐसे बच्‍चों के लिए काम करती है जो अनाथ हो चुके है व उनका कोई ठिकाना नही है। लड़के का आरोप है कि इस अनाथालय में एक रमेश नामक व्‍यक्ति ने उसे बुरी तरह पीटा। फिलहाल लड़के का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस घटना के मीडिया के सामने आने के बाद पुलिस द्वारा जांच की बात की गई है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी