Naidunia
    Saturday, September 23, 2017
    PreviousNext

    अल्‍जाइमर के रोगियों के लिए अश्‍वगंधा से उम्‍मीद

    Published: Thu, 28 Jan 2016 12:08 PM (IST) | Updated: Thu, 28 Jan 2016 12:11 PM (IST)
    By: Editorial Team
    ashwagandha 28 01 2016

    बेंगलुरु। दुनियाभर के शोधकर्ता अल्‍जाइमर बीमारी की दवा खोजने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। ऐसे में इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ साइंस (IISc) आयुर्वेदिक हर्ब अश्‍वगंधा के जरिये इस बीमारी का संभावित इलाज करने

    की दिशा में शोध कर रहा है।

    अल्जाइमर रोग मस्तिष्क का धीरे-धीरे बढ़ने वाला रोग है, जिसे स्मरणशक्ति के समाप्त होने और तर्कशक्ति, नियोजन, भाषा और सोच में व्यवधान उत्पन्न होने लगता है।

    (IISc) में सेंटर फॉर द न्यूरो साइंसेज की अध्‍यक्ष डॉ विजयलक्ष्मी रविंद्रनाथ ने अल्जाइमर की बीमारी से जूझ रहे चूहों पर अश्वगंधा जड़ से निकालने गए अर्क का इस्‍तेमाल किया। उसका प्रारंभिक निष्कर्ष यह है कि अश्‍वगंधा का अर्क मेमोरी लॉस यानी स्मृति हानि को पलट सकता है।

    टाटा ने इस अनुसंधान के लिए 75 करोड़ रुपए का अनुदान देने का वायदा किया है। फार्मास्‍युटिकल कंपनीज और शोधकर्ता अल्‍जाइमर की बीमारी का इलाज खोजने में फेल साबित हुए हैं। विजयलक्ष्‍मी ने बताया कि क्‍लीनिकल ट्रायल्‍स में अधिकांश ड्रग फेल हो गईं। ऐसे में बीमारी के उपचार की कम आशा है।

    उन्‍होंने कहा कि इसके लिए हमें उपचार की पारंपरिक प्रणाली जैसे आयुर्वेद के ज्ञान को आधार बनाना चाहिए, जिसकी 2000 से अधिक सालों से प्रैक्‍िटस की जा रही है। उन्‍होंने कहा कि हम मस्तिष्क की उम्र बढ़ने के विकारों के मामलों में बड़ी वृद्धि देख रहे हैं। ऐसे में पारंपरिक प्रणाली के ज्ञान के आधार को समझने और आधुनिक संदर्भ में उसका प्रभावी तरीके से उपयोग करना जरूरी है।

    यह है अश्‍वगंधा

    अश्वगंधा एक चमत्‍कारी गुणों वाली औषधि है, जो शरीर को कई लाभ प्रदान करती है। यह दिमाग और मन को स्‍वस्‍थ रखती है। इसकी जड़ों का इस्‍तेमाल कई प्रकार की दवाओं को बनाने में किया जाता है।

    अश्वगंधा खाने से गठिया का दर्द दूर हो जाता है। इसमें पेट को साफ करने का गुण होता है जिससे पाचन क्रिया अपने आप दुरूस्‍त हो जाती है। अगर किसी को नींद नहीं आती है तो अश्वगंधा का सेवन करने से यह समस्‍या भी दूर हो जाती है।

    अगर इसका सही मात्रा में सेवन किया जाएं, तो यह कामुकता को बढ़ती है और यौवन प्रदान करती है। माना जाता है कि सेक्‍स प्रॉब्‍लम में अश्‍वगंधा रामबाण दवा होती है। इसमें ऐसे-ऐसे गुण होते हैं जो शरीर को ऊर्जा और क्षमता प्रदान करती है जिससे व्‍यक्ति में यौन क्षमता का विकास होता है और उसकी समस्‍याएं दूर हो जाती हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें