Naidunia
    Monday, September 25, 2017
    PreviousNext

    पत्नी से मुक्ति पाने को चढ़ाया HIV संक्रमित खून

    Published: Fri, 20 Feb 2015 11:38 AM (IST) | Updated: Fri, 20 Feb 2015 11:46 AM (IST)
    By: Editorial Team
    hiv 20 02 2015

    धर्मेंद्र चंदेल, ग्रेटर नोएडा. अब तक पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए तलाक और कत्ल के मामले सामने आते रहे हैं लेकिन सूरजपुर थाने में ऐसा मामला आया है जिससे पुलिस अधिकारी भी हैरत में हैं।

    एफआईआर के मुताबिक सीआरपीएफ के टेक्नीशियन ने पत्नी से छुटकारा पाने के लिए उसे शुगर नियंत्रित करने के नाम पर एचआईवी संक्रमित इंजेक्शन लगाया।

    कुछ दिन बाद एचआइवी संक्रमित खून भी इंजेक्शन के जरिये चढ़ा दिया। पत्नी को इसका अहसास तब हुआ जब उसने शारीरिक संबंध बनाना बंद कर दिया। ऐसा उसने इसलिए किया ताकि वह अपनी प्रेमिका से शादी रचा सके।

    पीड़िता के पिता ने सूरजपुर थाने में टेक्नीशियन, उसके माता-पिता और भाई-बहन समेत दस के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। ग्रेटर नोएडा के एक गांव की 23 वर्षीय युवती की शादी 15 फरवरी, 2012 को फरीदाबाद के सादतपुर गांव के प्रवीण कुमार शर्मा के साथ हुई थी।

    प्रवीण सीआरपीएफ में दिल्ली के आरकेपुरम में टेक्नीशियन है। युवती के पिता का आरोप है कि प्रवीण किसी और युवती से प्रेम करता है। शादी के एक साल बाद तक उसने यह बात छुपाए रखी। प्रवीण ने 24 नवंबर, 2013 को पत्नी को यह कहकर एक इंजेक्शन लगाया कि यह शुगर की रोकथाम के लिए है।

    दरअसल युवती के पिता को शुगर था। इसी का उसने फायदा उठाया। इंजेक्शन देने के बाद उसने पत्नी से शारीरिक संबंध बनाना बंद कर दिया। इसके बाद भी वह उसकी चाल को समझ नहीं पाई। प्रवीण को लगा कि इंजेक्शन का कोई असर नहीं हुआ तो उसने शुगर के बहाने पत्नी को आठ जनवरी, 2014 को एचआइवी से संक्रमित खून इंजेक्शन के जरिये चढ़ा दिया। लंबे समय तक वह दूर रहा तो पत्नी को शक हुआ। वह बीमार भी रहने लगी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें