Naidunia
    Tuesday, September 19, 2017
    PreviousNext

    फिल्‍म इंडस्‍ट्री की मुश्‍िकलें बढ़ा सकते हैं सेंसर बोर्ड के नए सीईओ

    Published: Mon, 20 Jan 2014 08:56 AM (IST) | Updated: Tue, 21 Jan 2014 09:16 AM (IST)
    By: Editorial Team
    kumar-20j 20 01 2014

    मुंबई। राकेश कुमार हाल ही में सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्‍म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) के सीईओ बने हैं। उन्‍होंने पंकजा ठाकुर के बाद यह पद संभाला है। यह वही पंकजा ठाकुर हैं जिन्‍होंने द डर्टी पिक्‍चर को टेलीविजन पर दिखाए जाने से पहले उसके 59 सीन काटने की बात कही थी।

    'द डर्टी' पिक्‍चर को लेकर फिल्‍म इंडस्‍ट्री ने पंकजा की काफी आलोचना की थी। रमेश सिप्‍पी और महेश भट्ट जैसे लोगों ने भी उनके व्‍यवहार की निंदा की थी। पंकजा का कहना है कि सीबीएफसी हमेशा अपना नजरिया बदलता रहा है। जब हमने डेल्ही बैली को हरी झंडी दिखाई तो हमारे निर्णय के विरोध में कई पत्र आए। लेकिन मुझे खुशी है कि हमने उसे मंजूरी दी।

    हालांकि सेंसर बोर्ड के नवनियुक्‍त सीईओ राकेश कुमार के विचार पंकजा से अलग हैं। डेल्‍ही बैली के बारे में कुमार का कहना है कि आमिर खान को अपनी छव‍ि को ध्‍यान में रखते हुए इस तरह की फिल्‍म नहीं बनानी चाहिए थी।

    भारतीय रेलवे के कर्मचारी रहे कुमार अब यह तय करने की जिम्‍मेदारी संभाल रहे हैं कि दर्शकों को फिल्‍मों में क्‍या देखना चाहिए और क्‍या नहीं। कुछ दिनों पहले ही वह डेढ़ इश्‍िकया को लेकर अपनी नाखुशी जाहिर कर चुके हैं।

    कुमार की छवि को देखते हुए कहा जा रहा है कि वह फिल्‍म इंडस्‍ट्री की मुश्‍िकलें बढ़ा सकते हैं। अपने एक बयान में वह कह चुके हैं कि भारतीय सिनेमा से गंभीरता कम होती जा रही है। इसके अलावा अग्निपथ फिल्‍म के दौरान असहज महसूस करने के कारण कुमार और उनकी पत्‍नी फिल्‍म बीच में छोड़कर जा चुके हैं। यही नहीं, उनकी पांच वर्षीय बेटी भी शुद्ध देसी रोमांस में बहुत अधिक ‘प्‍यार’ दिखाए जाने की शिकायत कर चुकी है।

    कुमार का कहना है कि सबसे बड़ी समस्‍या यह है कि आजकल आपत्‍ितजनक सामग्री को भी मंजूरी मिल जाती है। इससे फिल्‍म निर्माताओं को ज्‍यादा दर्शक भी मिल रहे हैं। यदि हम इस सब पर रोक लगा सकें तो इसके सकारात्‍मक परिणाम जल्‍द ही देखने को मिलेंगे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें