Naidunia
    Friday, September 22, 2017
    PreviousNext

    सोनिया गांधी के बाद येचुरी से मिले राजनाथ-नायडू, कांग्रेस बोली- हमसे पूछते रहे नाम

    Published: Fri, 16 Jun 2017 09:57 AM (IST) | Updated: Fri, 16 Jun 2017 03:40 PM (IST)
    By: Editorial Team
    rajnath 2017616 103540 16 06 2017

    नई दिल्‍ली। राष्ट्रपति चुनाव से संबंधित मुद्दों पर विपक्ष को साधने निकले केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह व एम वेंकैया नायडू शुक्रवार को कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से मिले। इसके बाद दोनों ही नेता सीताराम येचुरी से मिलने पहुंचे।

    हालांकि सोनिया गांधी से उनकी मुलाकात 30 मिनट भी नहीं चल पाई। मुलाकात के बाद कांग्रेस ने कहा है कि भाजपा ने उन्हें कोई नाम नहीं सुझाया है। कांग्रेत नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भाजपा नेता तो हमसे ही नाम पूछ रहे थे।

    कांग्रेस नेता मल्‍लिकार्जुन खड्गे ने बताया कि इस मीटिंग में हुई चर्चा को पार्टी के अन्‍य सदस्‍यों और चुनाव के लिए गठित उपसमिति के साथ बांटा जाएगा। हम सबके मत को विचाराधीन रखेंगे। राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के समर्थन देने की बात को खारिज करते हुए खड्गे ने बताया कि सेक्‍युलर पार्टी होने के नाते कांग्रेस के विचार से राष्‍ट्रपति पद के लिए भागवत उपयुक्‍त उम्‍मीदवार नहीं हैं। उन्‍होंने आगे कहा, ‘हम सेक्‍युलर पार्टी हैं। हम कभी मोहन भागवत को व अन्‍य पार्टियों को समर्थन नहीं देंगे। उनका नाम शिवसेना की ओर से प्रस्‍तावित किया गया है। हम नहीं जानते कि उनका भाजपा के साथ क्‍या संबंध हैं। हम सेक्‍युलर पार्टी से उम्‍मीदवार का चयन करेंगे।‘

    पटेल और मिश्रा के जल्द ही समिति से मिलने की उम्मीद है। उनके बारे में कहा जाता है कि वे नायडू को आश्वस्त कर चुके हैं कि उनकी पार्टियां किसी उम्मीदवार के नाम पर बीजेपी समिति से चर्चा करने के बाद संज्ञान लेंगी। अब तक कांग्रेस, बीएसपी, एनसीपी, टीडीपी, सीपीएम और एआईएनसी(एनआर) से समिति की ओर से सम्पर्क किया जा चुका है।

    भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने 12 जून को गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और नायडू को समिति में नियुक्त किया था जिससे कि राष्ट्रपति चुनाव में सर्वसम्मत उम्मीदवार चुनने के लिए विपक्षी दलों से बात की जा सके। वेंकैया नायडू ने गुरुवार को एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और टीडीपी प्रमुख एन. चंद्रबाबू नायडू से भी बात की। चंद्रबाबू ने वेंकैया से कहा है कि उनकी पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्णय के साथ खड़ी है। वहीं पवार ने कहा है कि वह आगे की बातचीत के लिए अगले कुछ दिन दिल्ली में है।

    नायडू ने बुधवार को कहा था कि उन्‍होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से विचार विमर्श किया है और निर्णय लिया है कि वे विभिन्‍न पार्टियों से बात करेंगे। नायडू ने बताया, हमने विचार किया है और इस संबंध में विभिन्‍न दलों से बात करेंगे। ’17 जून को वित्‍त मंत्री वापस आएंगे। हम उनसे बात कर आगे बढ़ेंगे।‘

    20 या 21 जून को फिर हो सकती है विपक्ष की बैठक

    सूत्रों का ये भी मानना है कि एनडीए के नेताओं से मुलाकात करने के बाद सोनिया 20 या 21 जून को एक बार 17 विपक्षी पार्टियों की बैठक बुलाएंगी, जिसमें सोनिया समेत सभी नेता अपनी अपनी राय रखेंगे, क्योंकि एनडीए के नेता सोनिया के अलावा और भी विपक्षी नेताओं से इस बीच मुलाकात कर लेंगे।

    दरअसल, कांग्रेस और तमाम विपक्षी दलों को लगता है कि सरकार विपक्ष से बात करने की महज औपचारिकता निभाती दिख रही है। वह अपनी विचारधारा का ही उम्मीदवार थोपना चाहती है, जिस पर शायद ही विपक्ष की सहमति मिले। इसलिए बिना नाम जाने तो एनडीए के उम्मीदवार का विपक्ष समर्थन करने से रहा। इसलिए एनडीए के उम्मीदवार के सामने आते ही विपक्ष भी अपना उम्मीदवार तय कर देगा।

    राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्‍त हो जाएगा और राष्‍ट्रपति चुनाव 17 जुलाई को है। नामांकन करने की अंतिम तारीख 28 जून है और मतगणना 20 जुलाई को होगी। राष्‍ट्रपति मुखर्जी 25 जुलाई को अपना पद छोड़ेंगे आर उप राष्‍ट्रपति हामिद अंसारी अपना दूसरा कार्यकाल अगस्‍त में पूरा करेंगे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें