Naidunia
    Thursday, December 14, 2017
    Previous

    राम रहीम केस : 144 घंटे की रिमांड, 400 सवाल, 85 के जवाब, वह भी गलत

    Published: Mon, 09 Oct 2017 09:53 PM (IST) | Updated: Mon, 09 Oct 2017 10:06 PM (IST)
    By: Editorial Team
    honeypreet haryana police mew images 09 10 17 09 10 2017

    चंडीगढ़। गुरमीत की गोद ली बेटी हनीप्रीत की छह दिन के रिमांड पर पुलिस उससे कुछ भी ऐसा नहीं उगलवा सकी, जिसके आधार पर यह साबित किया जा सके कि पंचकूला हिसा में उसका हाथ है।

    144 घंटे (छह दिन) की रिमांड अवधि के दौरान हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत व उसकी सहयोगी से 400 सवाल पूछे हैं, लेकिन हनीप्रीत ने इनमें से केवल 85 का ही जवाब दिया। पुलिस को इनके भी सही होने पर संदेह है। पुलिस हनीप्रीत से मिलने वाली जानकारी के आधार पर पुलिस गुरमीत के खिलाफ भी देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की तैयारी में थी, मगर अभी उसे इसके लिए इंतजार करना पड़ सकता है।

    हनीप्रीत व सुखदीप की रिमांड अवधि खत्म होने के बाद पुलिस दोनों को मंगलवार को फिर से पंचकूला अदालत में पेश करेगी। पुलिस की कोशिश उनका रिमांड बढ़वाने की रहेगी। 39 दिन की फरारी के बाद 3 अक्टूबर को हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत व उसकी सहयोगी सुखदीप कौर को पंजाब के जीरकपुर से गिरफ्तार किया था।

    सख्ती भी नहीं आई काम

    सुखदीप कौर ने पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान हर बार यही कहा कि वह हनीप्रीत के निर्देशों पर काम करती रही है। इसके विपरीत हनीप्रीत ने हर बार बयान बदलकर पुलिस को गुमराह करने के अलावा और कुछ नहीं किया। शनिवार की रात पुलिस ने हनीप्रीत को पूछताछ के लिए क्राइम इंवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए) के हवाले भी किया, लेकिन कोई खास कामयाबी नहीं मिली।

    रविवार को पुलिस ने हनीप्रीत व उसके चालक रहे राकेश अरोड़ा को आमने-सामने बिठाकर कई घंटे तक पूछताछ की। सोमवार को हनीप्रीत से राज उगलवाने का हर हथकंडा अपनाया। कई घंटे दोबारा तक हनीप्रीत व राकेश अरोड़ा को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ की, मगर नतीजा सिफर ही निकला।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें