Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    मुख्य परीक्षा में प्रश्न की गलती का मूल्यांकन में ध्यान रखेगा यूपीएससी

    Published: Thu, 02 Feb 2017 07:19 PM (IST) | Updated: Thu, 02 Feb 2017 07:22 PM (IST)
    By: Editorial Team
    upsc 02 02 2017

    नई दिल्ली। सरकार ने गुरुवार को बताया कि सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा में पूछे गए एक सवाल की उम्मीदवारों की ओर से की गईं अलग-अलग व्याख्याओं को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) वैध मानकर ही उनके जवाबों का मूल्यांकन करेगा।

    राज्यसभा में गुरुवार को एक सवाल के लिखित जवाब में कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने यह जानकारी दी। 2016 में आयोजित सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा के कई उम्मीदवारों ने आयोग को कई शिकायतें भेजकर कहा था कि निबंध के शीर्षक 'इफ डेवलेपमेंट इज नॉट इंजेंडर्ड, इट इज इंडेंजर्ड' के हिंदी अनुवाद का अर्थ अंग्रेजी से अलग था, जिससे उम्मीदवारों के बीच भ्रम फैल गया।

    जितेंद्र सिंह ने बताया, 'आयोग ने इन शिकायतों की सूचना दी है। प्रश्नपत्रों को विशेषज्ञों द्वारा ही तैयार किया जाता है और वे ही उनका मूल्यांकन भी करते हैं।'

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें