Naidunia
    Saturday, November 18, 2017
    PreviousNext

    अमिताभ के दादा को 500 रुपए कर्ज लौटाने में लगे थे दो साल

    Published: Sat, 15 Jul 2017 09:05 AM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 12:52 PM (IST)
    By: Editorial Team
    amitabh 15 07 2017

    आज अमिताभ बच्चन करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं। मगर उनसे सिर्फ दो पीढ़ी पहले उनके परिवार की स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी। उनके पिता कवि हरिवंशराय बच्चन का बचपन बहुत अभावों में बीता। जबकि अमिताभ के दादा प्रतापनारायणजी का जीवन तो फकत गरीबी में ही गुजरा।

    एक बार तो उन्हें 500 रुपए का कर्ज लेना पड़ा, जिसे वे अपनी तनख्वाह से कटवाते-कटवाते दो साल में चुका पाए, वह भी बिना ब्याज के। किस्सा उस समय का है जब हरिवंशराय बच्चन महज 18-20 साल के युवा थे। बड़ी बहन ब्याह लायक हो रही थीं और मकान टूटा था।

    मेहमानों को बैठाने के लिए न ठीक से कोई कमरा था, नहीं ठीक-ठाक सामान। हरिवंशराय बच्चन अपनी आत्मकथा में लिखते हैं- गांव के पंडितजी ने तब बाबूजी से कहा - 'मेहमान घर देखकर ही लड़की का रिश्ता करते हैं। इसे न सुधरवाया तो मुश्किल समझो"।

    प्रतापनारायण चिंता में पड़ गए। तभी पंडितजी ने मदद दी और बिना ब्याज का 500 रुपए कर्ज दे दिया। तब पैसों की कीमत खूब थी, इसलिए इतने में मकान के आगे दो कमरे भी बन गए और घर का सामान भी आ गया। अंतत:

    मेहमान आए, खुश हुए और रिश्ता तय करके चले गए। मगर अमिताभ के दादा को उन 500 रुपयों को चुकाने में दो साल लग गए।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें