Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    केरल में आर्थिक रूप से कमजोर अगड़ी जातियों के लिए नौकरी में आरक्षण का ऐलान

    Published: Wed, 15 Nov 2017 04:25 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 06:48 PM (IST)
    By: Editorial Team
    p vijayan cm kerala img 20171115 163623 15 11 2017

    तिरुवंतपुरम। केरल सरकार ने आर्थिक रूप से पिछड़े अगड़ी जातियों के लिए नौकरी में आरक्षण प्रदान करने का फैसला किया है और इसकी शुरुआत देवास्‍वम बोर्ड से होगी। मुख्‍यमंत्री पिनाराई विजयन ने आज इसकी घोषणा की।

    विजयन ने बताया कि यह फैसला कैबिनेट द्वारा लिया गया है। उन्‍होंने कहा कि सैद्धांतिक रूप से इस तरह के फैसले को लागू करने के लिए एक संवैधानिक संशोधन की जरूरत होगी, मगर देवास्‍वम बोर्ड के साथ ऐसा नहीं है, जो मंदिरों का संचालन करता है।

    विजयन ने कहा कि पहली बार इसकी शुरुआत के लिए हमने 10 फीसदी नौकरियों को उन लोगों के लिए अलग से रखने का फैसला किया है, जो अगड़ी जातियों से मगर आर्थिक रूप से पिछड़े हुए हैं।

    गौरतलब है कि देवास्वम बोर्ड ने पिछले दिनों केरल में संचालित अपने 1,504 मंदिरों के लिए पुजारियों की नियुक्ति में सरकार की आरक्षण नीति का पालन करने का निर्णय लिया था।

    इसके तहत मंदिरों में दलितों की नियुक्ति की थी। अभी तक यहां के मंदिरों में केवल ब्राह्मणों को ही पुजारी बनाने की परंपरा थी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें