Naidunia
    Tuesday, August 22, 2017
    PreviousNext

    मप्र के मंदसौर में आज जुटेंगे देशभर के किसान नेता

    Published: Tue, 20 Jun 2017 10:50 PM (IST) | Updated: Tue, 20 Jun 2017 10:55 PM (IST)
    By: Editorial Team
    maxresdefault 20 06 2017

    नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन शांत होने के बाद 21 जून को एक बार फिर मंदसौर में किसानों का जमघट लगेगा। सुबह पत्रकारों से चर्चा करने के बाद वह किसानों की समस्याओं पर चर्चा करेंगे।

    देश के 14 राज्यों में कार्य कर रहे किसान संगठनों से मिलकर बने ऑल इंडिया किसान मजदूर सभा (एआइकेएमएस) के अध्यक्ष कॉमरेड वी वैंकटरमैया, उपाध्यक्ष कॉमरेड जेवी चलपतिराव के साथ कई किसान नेता भुधवार को मंदसौर पहुंचेंगे।

    संगठन के राष्ट्रीय सदस्य पंजाब के दातार सिंह और यूपी के धरमपाल सिंह ने बताया कि संगठन द्वारा 14 राज्यों में किसानों की समस्याओं का समाधान करने के लिए कार्य किया जा रहा है।

    संगठन में 28 से अधिक किसान संगठन जुड़े हैं। उन्होंने साफ किया कि मप्र में किसान आंदोलन समाप्त हो चुका है। आंदोलन की कोई कार्ययोजना तैयार नहीं की जा रही है।

    एआइकेएमएस के सदस्य आंदोलन में मृत किसानों को श्रद्धांजलि देने और किसानों की समस्याओं को जानने के लिए मंदसौर आ रहे हैं।

    मप्र में अजा-अजजा किसानों को सशर्त मिलेगी मुफ्त बिजली मध्य प्रदेश सरकार ने एक हेक्टेयर तक रकबे वाले अनुसूचित जाति व जनजाति के किसानों को पांच हार्सपॉवर के पंप के लिए बिजली मुफ्त देने का फैसला किया है।

    यह फैसले मंगलवार को सीएम शिवराज सिंह की अध्यक्षता में कैबिनेट में हुआ। हरियाणा सरकार किसान संगठनों से तीस को करेगी वार्ता हरियाणा में किसानों की कर्जमाफी के दबाव से जूझ रही मनोहर सरकार ने राज्य के किसान संगठनों की बैठक बुला ली है।

    यह बैठक 30 जून को चंडीगढ़ में होगी, जिसमें भारतीय किसान यूनियन से जुड़े नेताओं के साथ किसानों के हक में काम कर रहे संगठनों को बुलाए जाने की संभावना है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल यह बैठक लेंगे।

    सीएम की अध्यक्षता में हुई मंत्री समूह की बैठक में यह निर्णय हुआ। राजस्थान में किसान संघ ने वार्ता के बाद खत्म किया आंदोलन राजस्थान में किसान आंदोलन को कमजोर करने के लिए सरकार ने आरएसएस से जुड़े भारतीय किसान संघ से सोमवार देर रात हुई समझौता वार्ता के बाद आंदोलन समाप्त करा दिया।

    हालांकि कर्ज माफी की मुख्य मांग पर सरकार की ओर से कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया गया। वहीं कांग्रेस और अन्य किसान संगठनों ने आंदोलन तेज करने की बात कही है।

    यह संगठन 22 जून को जयपुर में बैठक कर आगे की रणनीति तय करेंगे। किसान संघ के प्रतिनिधियों के साथ हुई समझौता वार्ता में राज्य के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी मौजूद थे।

    वार्ता के बाद किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष मणिलाल लबाना ने कहा कि संभागीय स्तर पर चल रहा महापड़ाव तत्काल समाप्त किया जाता है।

    इसके साथ ही मंगलवार को मंडी बंद, गांव बंद का आंदोलन भी वापस लिया जाता है। इनसेट) मध्य प्रदेश के दो और किसानों ने की आत्महत्या मप्र में किसानों की आत्महत्या के मामले थम नहीं रहे है।

    मंगलवार को भी दो किसानों ने अपनी जान दे दी। पहली घटना नरसिंहपुर की है, जहां एक किसान ने मुआवजा की राशि न मिल पाने के कारण सल्फास खाकर आत्महत्या कर ली।

    वहीं दूसरी घटना होशंगाबाद में हुई, जहां सूदखोरों से तंग एक किसान ने शुक्रवार को आग लगा ली थी, जिसकी भोपाल के अस्पताल में मंगलवार को मौत हो गई।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें