Naidunia
    Tuesday, August 22, 2017
    PreviousNext

    बेटे की चाहत में होता था महिला का उत्पीड़न, दो बेटियों के साथ की आत्महत्या

    Published: Sat, 20 May 2017 10:34 AM (IST) | Updated: Sun, 21 May 2017 09:29 AM (IST)
    By: Editorial Team
    women set ablaze 20 05 2017

    राजकोट। मोरबी के शनाला गांव में शुक्रवार को 26 वर्ष की एक महिला ने अपनी दो बेटियों के साथ आत्महत्या कर ली। बेटे के जन्म की चाह में महिला का उत्पीड़न किया जाता था। इससे परेशान होकर शीतल परमार ने 13 दिन पहले जन्मी बच्ची के साथ खुद को जिंदा जला लिया। उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

    वहीं, साढ़े तीन साल की जिंकल की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। वह गंभीर रूप के जल गई थी। सुबह करीब 10 बजे पड़ोसियों ने उसके घर से धुएं निकलते हुए देखा। पड़ोसी जब घर में पहुंचे, तो पाया कि वहां शीतल और उसकी बेटियां आग में जल रही थीं।

    उन्हें मोरबी के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन तब तक शीतल और पायल ने दम तोड़ दिया। मोरबी पुलिस थाने के जांच अधिकारी एचबी भदानिया ने कहा कि घटना के बाद शीतल के पति और ससुरालीजन गांव से फरार हो गए हैं।

    महिला के भाई अमरसिंह कनजारिया ने शीतल के पति दयाराम और उनके माता-पिता नरसिंह और शारदा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाने) के आरोप में मामला दर्ज किया है। शीतल के भाई ने कहा कि दयाराम और उनके माता-पिता ने दूसरी लड़की को जन्म देने के लिए शीतल को ताने दिए और उसे प्रताड़ित किया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें