Naidunia
    Wednesday, December 13, 2017
    PreviousNext

    हेल्थ केयर के मामले में बांग्लादेश और नेपाल से भी पीछे भारत, 154वां स्थान

    Published: Sat, 20 May 2017 01:40 PM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 02:22 PM (IST)
    By: Editorial Team
    healtcare index 20 05 2017

    नई दिल्ली। स्वास्थ्य देखभाल के मामले में भारत को बहुत काम करना बाकी है। इस मामले में बांग्लादेश, भूटान, चीन और श्रीलंका से भी पीछे भारत का नंबर है। मेडिकल जर्नल द लैनसेट में प्रकाशित ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज स्टडी (जीबीडी) के अनुसार, हेल्थकेयर सूचकांक में 195 देशों के बीच भारत का स्थान 154 हैं, जो कि निराशाजनक है।

    हालांकि, हेल्थ केयर एक्सेस एंड क्वालिटी (HAQ) इंडेक्स में भारत की स्थिति में सुधार हुआ है। सूचकांक में 14.1 की वृद्धि के साथा 1990 में 30.7 से बढ़कर 2015 में यह 44.8 हो गया है। इस सूची में भारत कई पड़ोसी देशों से भी पीछे है। इस सूची में श्रीलंका (72.8), बांग्लादेश (51.7), भूटान (52.7) और नेपाल (50.8) अंक के साथ भारत के आगे हैं। वहीं, पाकिस्तान (43.1) और अफगानिस्तान (32.5) से भारत आगे है।

    HAQ सूचकांक रोगियों की 32 रोगों से होने वाली मृत्यु दर के आधार पर तैयार किया जाता है, जिन्हें उचित चिकित्सा देखभाल से बचाया जा सकता है या प्रभावी ढंग से इलाज किया जा सकता है। 1990 के बेंचमार्क वर्ष की तुलना में प्रत्येक देश द्वारा की गई प्रगति का भी आंकलन किया गया।

    अध्ययन के मुताबिक, भारत ने क्षयरोग, मधुमेह, गुर्दे की बीमारियों और हृदय रोगों से निपटने में काफी खराब प्रदर्शन किया है। जर्नल में भारत को एशिया का सबसे खराब स्वास्थ्य देखभाल पहुंच वाले देश के रूप में दिखाया गया है। स्विट्जरलैंड इस स्वास्थ्य सूचकांक में सबसे ऊपर है, उसके बाद स्वीडन और नॉर्वे का नंबर है।

    इस सूची में चीन 82वें और श्रीलंका 73वें स्थान पर था। वहीं, विकसित राष्ट्रों में जिन देशों ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया, उनमें अमेरिका और ब्रिटेन शामिल हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें