Naidunia
    Wednesday, March 29, 2017
    PreviousNext

    "जल्लीकट्टू" के समर्थन में जमकर प्रदर्शन, 149 हिरासत में

    Published: Sat, 14 Jan 2017 08:44 PM (IST) | Updated: Sat, 14 Jan 2017 08:49 PM (IST)
    By: Editorial Team
    jalli.jpeg 14 01 2017

    मदुरै। पोंगल उत्सव के दौरान सांड़ को वश में करने के तमिलनाडु के पारंपरिक खेल "जल्लीकट्टू" कराने के लिए अध्यादेश लाने की मांग कर रहे लोगों ने शनिवार को राज्य में जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस खेल के समर्थकों में राज्य के कई राजनीतिक दल भी शामिल हैं। पुलिस को कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए 149 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेना पड़ा। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इस खेल पर प्रतिबंध लगा दिया था।

    "जल्लीकट्टू" का आयोजन पोंगल के अवसर पर मदुरई के अवानियापुरम में किया जाता है। लेकिन प्रतिबंध के चलते अगले दो दिनों में इसका आयोजन पलामेदु और अलंगनल्लुर में किया जा सकता है। मदुरै के पुलिस आयुक्त शैलेष कुमार यादव ने बताया कि अलंगनल्लुर में रेल रोकने का प्रयास कर रहे 68 ग्रामीणों को हिरासत में लिया गया। यहां एक युवक मोबाइल टावर पर भी चढ़ गया था। जबकि, अवानियापुरम में फिल्म निर्देशक गोथामन के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहीं युवाओं की कई टोलियों को भी हिरासत में लिया गया है। एक या दो स्थानों पर प्रतिबंध के विरोधस्वरूप सांकेतिक रूप से "जल्लीकट्टू" का आयोजन किए जाने के दावे पर उन्होंने कहा, "किसी जल्लीकट्टू का आयोजन नहीं किया गया और न ही होगा। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि कानून का पालन किया जाए।"

    भाकपा के प्रदेश सचिव आर. मुथरासन और पीएमके प्रमुख रामदोस ने दावा किया कि अवानियापुरम में प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया गया। उन्होंने इसके दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस बीच, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदराजन ने कोयंबटूर में कहा कि "जल्लीकट्टू" पर प्रतिबंध संप्रग शासनकाल में 2012 में लगाया गया था और द्रमुक उनकी गठबंधन सहयोगी थी। इस प्रतिबंध के बावजूद द्रमुक न तो गठबंधन से हटी थी और न ही सरकार से। लिहाजा इस मसले पर उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने शुक्रवार को इस मुद्दे पर चर्चा के लिए अन्नााद्रमुक सांसदों को समय नहीं देने के लिए प्रधानमंत्री पर निशाना साधा था।

    रजनीकांत ने किया खेल का समर्थन

    चेन्नई, आइएएनएस : सुपरस्टार रजनीकांत ने "जल्लीकट्टू" के आयोजन का समर्थन किया है। एक फिल्म पुरस्कार समारोह के दौरान उन्होंने कहा कि यह खेल तमिल संस्कृति का हिस्सा है और इसका आयोजन अवश्य कराया जाना चाहिए।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी