Naidunia
    Friday, October 20, 2017
    PreviousNext

    'हिंदुओं के पक्ष में आया अयोध्या केस का फैसला तो मुस्लिम खुशी से स्वीकार करेगा'

    Published: Mon, 14 Aug 2017 07:29 AM (IST) | Updated: Mon, 14 Aug 2017 10:56 AM (IST)
    By: Editorial Team
    kalbe sadiq 14 08 2017

    मुंबई। अयोध्या मामले में सुनवाई आब 5 दिसंबर से होगी। इस बीच अहिंसा विश्व भारती की ओर से रविवार को यहां आयोजित वर्ल्ड पीस एंड हारमनी कॉन्क्लेव में मुस्लिम धर्म गुरु कल्बे सादिक ने एक बड़ा बयान दिया। कहा कि अयोध्या केस का फैसला अगर हिंदुओं के पक्ष में आता है तो मुस्लिम समुदाय इसे खुशी से स्वीकार करेगा। साथ ही अगर यह फैसला मुसलमानों के पक्ष में आता है तो उन्हें विवादित जमीन हिंदुओं को दे देनी चाहिए।

    कल्बे सादिक के इस बयान पर कॉन्क्लेव में मौजूद केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि मौलाना ने यह बयान देकर हमारा दिल जीत लिया। उन्होंने कहा कि भगवान राम न हिंदू थे न मुस्लिम, वह तो भारत की आत्मा हैं। कॉन्क्लेव में देश और दुनिया की दिग्गज हस्तियों ने जुटकर शांति का संदेश दिया।

    योग गुरु बाबा रामदेव ने अपने संबोधन में भारत-चीन सीमा विवाद का जिक्र करते हुए कहा कि चीन शांति में विश्वास नहीं रखता। अगर ऐसा होता तो दलाई लामा भारत में नहीं होते।रामदेव ने कहा कि हम योग की भाषा में बात करते हैं लेकिन अगर किसी को यह भाषा नहीं समझ आती तो उसे युद्ध की भाषा में जवाब देना भी हमें आता है।

    केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने ऊर्जा क्षेत्र में भारत की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि दुनिया यह समझ चुकी है कि आतंकवाद और हिंसक विचार कितने खतरनाक साबित हो सकते हैं। कार्यक्रम में बौद्ध धर्म गुरु और निर्वासित तिब्बती नेता दलाई लामा, जैन धर्म गुरु लोकेश मुनि, संस्कृति मंत्री महेश शर्मा के अलावा कई अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद थे। कार्यक्रम के दौरान दलाई लामा और बाबा रामदेव के बीच कुछ हंसी-मजाक भी हुआ।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें