Naidunia
    Sunday, March 26, 2017
    PreviousNext

    योगी के सीएम बनते ही फूलने लगे कांग्रेस के हाथ-पांव, जानें क्यों

    Published: Tue, 21 Mar 2017 01:07 PM (IST) | Updated: Tue, 21 Mar 2017 02:09 PM (IST)
    By: Editorial Team
    yogi aadityanath 21 03 2017

    नई दिल्ली। यूपी में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद कांग्रेस का हाल बुरा है। वहीं, अब योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद तो प्रदेश के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने केंद्रीय नेतृत्व पर निशाना साधना शुरू कर दिया है।

    ये कार्यकर्ता अपने केंद्रीय नेताओं के उस बयान की हंसी उड़ा रहे हैं, जिसमें कहा गया था कि मुख्यमंत्री के रूप में योगी को बिठाना नरेंद्र मोदी के विकास मॉडल के लिए फिट नहीं है। इन कार्यकर्ताओं का मानना ​​है कि बतौर सीएम योगी आदित्यनाथ अपनी पार्टी के हिंदू वोट बैंक को मजबूत करने में मदद करेंगे।

    यूपी के अधिकांश कांग्रेस नेताओं का कहना है कि जाति के अवरोधों को तोड़ने और हिंदुत्व की राजनीति को मजबूती के साथ लागू करने के लिए योगी आदित्यनाथ सबसे अच्छा विकल्प थे।

    इनके मुताबिक, हरियाणा में एमएल खट्टर, झारखंड में रघुबीर दास, महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाने से पता चलता है कि मोदी एक कमजोर और सुस्त व्यक्ति को पसंद करेंगे। योगी शक्तिशाली और असहिष्णु हैं। लोग जानते हैं कि वे आजाद ख्याल व्यक्ति हैं, जो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मोदी की धुन में नहीं नाचेंगे। विकास की बात कहां आती है? मोदी हिंदू गठबंधन से जीते हैं और 2019 के लोकसभा चुनाव में भी यह सफलता की कुंजी है।

    मालूम हो, आदित्यनाथ को पिछले हफ्ते राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया था। इसके बाद कांग्रेस के कुछ केंद्रीय नेताओं की प्रतिक्रिया नकारात्मक टिप्पणियों से अलग थी। कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा था कि योगी की पसंद आरएसएस-भाजपा का सच्चा एजेंडा बताती है, जो हिंदुत्व है। विकास की बात तो सिर्फ एक मुखौटा है।

    पार्टी के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने दावा किया था कि यह (आदित्यनाथ की ताजपोशी) उन सब लोगों का अपमान है, जो सबका साथ, सबका विकास और विकास के लिए मतदान कर फंस गए हैं।

    एक पूर्व कांग्रेसी सांसद ने कहा कि आदित्यनाथ की पसंद ने कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बसपा के तत्काल पुनरुत्थान की संभावना को कम कर दिया है। मोदी ने यूपी को इसलिए जीत लिया क्योंकि वह भ्रमित नहीं थे। उन्हें पता था कि तेज ध्रुवीकरण ही इसकी ट्रिक है।

    शमशान-कब्रिस्तान, कसाब और रेलगाड़ियां तोड़फोड़ करना, उनके भाषणों में दिखता है। मुस्लिम तुष्टीकरण के खिलाफ गुस्से को योगी ने भुनाया। योगी कानून-व्यवस्था को कड़ा करेंगे, भ्रष्टाचार को रोकेंगे, और वह विशिष्ट जातियों से परे भाजपा की अपील को बढ़ाएंगे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी